कवर्धा। शहर में सब्जियों की पर्याप्त आवक न हो पाने के कारण सब्जियों के दाम बढ़े हुए हैं। शहर के नवीन बाजार, करपात्री चैक, लोहारा नाका चौक समेत अन्य छोटे-छोटे बाजार में टमाटर प्रतिकिलो 60 किलो के भाव तक बिक रहा है। इससे आम लोगों की काफी परेशानी बढ़ गई है। लोगों को अपने घरेलू बजट में कटौती करनी पड़ रही है। गर्मी के मौसम में सब्जियों की पर्याप्त नहीं हो पा रही है। शहर में स्थानीय आवक के अलावा रायपुर, दुर्ग, बेमेतरा सहित अन्य स्थानों से सब्जियों की आवक होती है। इन दिनों सब्जियों की आवक प्रभावित हो रही है, जिसके कारण सब्जियों के दाम बढ़े हुए हैं।

शहर के थोक सब्जी मार्केट व मंडी में भी सब्जियों के दाम बढ़े हुए हैं। रोजमर्रा की सब्जियों में प्रमुखता से उपयोग होने वाले टमाटर का भाव 40 से 50 किलो तक बढ़ गया है। सब्जी विक्रेता कुमार पटेल ने बताया कि सब्जी का मार्केट कधाा व्यापार है। आवक नहीं होने से भाव बढ़ जाता है वहीं आवक बढ़ने से रेट घट जाता है। आवक बढ़ते ही रेट सामान्य होंगे। यह सामान्य बात है।

सितंबर में कम हो गई थी कीमत

सितंबर में वैसे सब्जियों की कीमतें काफी कम हो गई थीं। ज्यादातर सब्जियां 30 रुपये किलो के आस-पास बिक रही थीं। सब्जी बेचने वाले दुकानदार केशव साहू बताते हैं कि सभी सब्जियों की आवक सितंबर में काफी ज्यादा थी, जिससे कीमतें कम थीं। पर सितंबर के अंतिम हफ्ते में बारिश ने सब्जियों पर असर डाला। इससे अब आवक कम हो गई है। सितंबर में प्याज 20 रुपये किलो थोक बाजार में था। थोक बाजार में टमाटर 3 रुपये किलो था।

दो रुपये किलो था टमाटर

बीते सितंबर में टमाटर तो इतना सस्ता था कि किसानों की लागत तक नहीं निकल रही थी और इसलिए वे खेतों में ही टमाटर फेंक देते थे। पर अक्टूबर महीना सब्जियों के लिए काफी खर्चीला हो गया है। व्यापारियों का कहना है कि कम से कम अगले 15 दिनों तक यही भाव रहने वाला है। आने वाले दिनों में बारिश की वजह से उन बाजारों में सब्जियों की कीमतें कुछ और समय तक ऊंची ही रहने वाली हैं।

बदलते मौसम का उत्पादन में पड़ रहा असर

जिले के 50 हेक्टेयर रकबे में टमाटर फसल ली गई है। इससे 7396 मीट्रिक टन उत्पादन का अनुमान है। लेकिन लगातार बदलते मौसम का असर टमाटर पर दिखाई दे रहा है। चार दिन पहले ही जिले के कुछ हिस्सों में ओलावृष्टि हुई है। इसका सीधे तौर पर असर टमाटर में पड़ा है। किसान भी बदलते मौसम के कारण परेशान है।

तापमान बढ़ा, लेकिन नींबू का भाव उतरा

मार्च माह से ही पड़ रहे भीषण गर्मी की वजह से देशभर के सब्जी बाजार में नींबू के दाम ने लोगों को खूब चौंकाया। भीषण गर्मी में लोग अपने-आप को स्वस्थ रखने के लिए नींबू का उपयोग ज्यादा करते हैं, लेकिन शुरुआती गर्मी में इसके दाम ने सभी को चैंकाया। हालांकि अप्रैल के दूसरे पखवाड़े से इसके दाम में गिरावट आई है। शुरुआती दिनों में तो दस रुपये में एक नींबू बिका है, जो अब 5 रुपये नग में बिक रही है। हालांकि अभी भी इसकी आवक जिले के बाहर से हो रहीं है। दूसरी ओर स्थानीय सब्जी मंडी में टमाटर की आवक में 50 फीसदी की कमी देखी जा रही है। हालांकि टमाटर की आपूर्ति कबीरधाम जिले के लोकल उत्पादकों से ही हो जा रही है।

वर्तमान में सब्जियों के दाम

कुंदरू 40 रुपये, भिंडी 30 रुपये, भटा 30 रुपये, टमाटर 60 रुपये, पत्तागोभी 25 रुपये, फूलगोभी 40 रुपये, परवल 40 रुपये, कटहल 30 से 40 रुपये, बरबट्टी 40 रुपये, कच्चा आम 20 रुपये किलो के हिसाब से बिक रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close