कवर्धा Kawardha Crime । छह साल पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले में जीजा और साला ने सुपारी लेकर हत्या की है तथा सगे भाई को हत्या की साजिशकर्ता के रुप में गिरफ्तार किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार माह अगस्त वर्ष 2014 में तत्कालीन थाना सहसपुर लोहारा क्षेत्रांतर्गत ग्राम कुरूवा-बामी मार्ग में सुतियापाट जलाशय के नहर नाली पुल के पास ग्राम कुरूवा खार के पास एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी। मृतक के सिर पर गंभीर चोट के निशान एवं शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे।

पुलिस मृतक के शव की पहचान के लिए लगातार आसपास के क्षेत्रों में पामप्लेट एवं पोस्टर जारी कर एवं अन्य सूत्रों के माध्यम से प्रयास कर रही थी। घटना के करीब 14-15 माह बाद थाना कोतवाली में मृतक के हुलिया से मिलते-जुलते एक व्यक्ति का गुम इंसान दर्ज होने की सूचना पर तस्दीक की गई, जिससे मृतक एवं गुम इंसान एक ही व्यक्ति का होना पाया गया तथा अज्ञात शव ग्राम बंदौरा निवासी खुमान कोसले पिता दाऊ दास कोसले का होना पाया गया। पुलिस प्रकरण के अज्ञात आरोपितों की पतासाजी लगातार प्रयास कर रही थी।

नवीन थाना सिंघनपुरी जंगल प्रांरभ होने बाद उक्त मामला थाना सिंघनपुरी क्षेत्र का होने से विवेचना थाना सिंघनपुरी जंगल द्वारा किया जा रहा है। नव पदस्थ थाना प्रभारी निरीक्षक कौशल किशोर वासनिक, सिंघनपुरी जंगल द्वारा आरोपितों की पता-तलाश के लिए अपने अधिनस्थ स्टाफ के साथ लगातार प्रयास किया गया।

विवेचना के दौरान मृतक के परिजनों से पूछताछ करने पर मृतक खुमान कोसले एवं उसके बड़े भाई रम्मन कोसले के मध्य पैतृक संपत्ति के बंटवारे को लेकर पूर्व में वाद-विवाद होना पता चला था। इसी दौरान पता चला कि अंतिम बार मृतक को धनेश पटेल ग्राम करही व उसके डेढ़ साला जगमोहन के साथ देखा गया था।

जानकारी के आधार पर पूछताछ की गई जिस पर स्वीकार किया कि मृतक के बड़े भाई रम्मन कोसले एवं उनकी पत्नि प्रेमा बाई ने आपसी संपत्ति संबंधी विवाद को लेकर खुमान कोसले की हत्या करने के लिए एक लाख रुपये देने की बात कही। एक बार धनेश पटेल और लक्ष्मण बघेल मृतक खुमान सिंह को शराब पिलाकर उनके खाने में जहर मिला दिये थे, लेकिन उसकी मृत्यु नहीं हो पाई थी।

उसके बाद मृतक खुमान को मारने के लिए दूसरा तरीका प्लान किया गया। जिसमें आरोपित धनेश पटेल ने अपने डेढ़ साला स्व. जगमोहन कश्यप को शामिल किया। घटना को आरोपित और जगमोहन ग्राम बंदौरा आरोपित रम्मन के घर जाकर एंडवास रकम 10,000 रुपये लेकर मृतक खुमान को उसके घर से अपने साथ मोटर सायकल में बैठाकर कवर्धा शराब दुकान ले जाकर सभी ने शराब पी।

इसके बाद मृतक को गंडई की ओर ले गये और ज्यादा शराब पिलाई डंडे से उसके सिर पर जगमोहन ने घातक वार किया। उसके बाद आरोपी धनेश ने भी मृतक खुमान के पेट छाती में डंडे से प्राणघातक वार किया। जिससे मृतक खुमान की मृत्यु उसी समय हो गई। दोनो आरोपित वहां से भागकर चले गये। घटना के एक सप्ताह बाद आरोपित धनेश ने सुपारी की बचत रकम 90,000 रूपये आरोपी रम्मन से प्राप्त किया और दोनों ने आपस मे बराबर बांट लिया।

सभी आरोपी के खिलाफ धारा 302,201,120 बी भादवि के तहत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। संपूर्ण मामले में श्री के.एल. ध्रुव पुलिस अधीक्षक कबीरधाम, श्री अनिल कुमार सोनी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कबीरधाम एवं श्री बी.आर.मण्डावी उप पुलिस अधीक्षक अजाक के मार्गनिर्देशन में थाना प्रभारी सिंघनपुरी जंगल निरीक्षक कौशल किशोर वासनिक के नेतृत्व में सहायक उप निरीक्षक दिनेश झारिया, अलेंक्जेंडर, हरेन्द्र मेश्राम प्रधान आरक्षक बाबूलाल पांचे, आरक्षक पुरूषोत्तम ठाकुर, रमेन्द्र साहू, विनोद मरकाम, संदीप पाण्डे, अजयकांत तिवारी, खेदूराम कोसले एवं समस्त थाना सिंघनपुरी जंगल स्टाफ द्वारा सराहनीय कार्य किया गया है। अंधेकत्ल गुत्थी को सुलझाने पर पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज, दुर्ग के द्वारा समस्त टीम को उनके उत्साहवर्धन हेतु ईनाम देने की घोषणा की है।

ये हैं आरोपित

धनेश पटेल पिता जगन्नाथ पटेल ग्राम करही थाना साजा जिला बेमेतरा, स्व.जगमोहन कश्यप पिता सुखु कश्यप ग्राम सोनेसरार थाना धमधा जिला दुर्ग, रम्मन कोसले पिता भाऊदास कोसले ग्राम बंदौरा थाना कवर्धा, प्रेमा बाई पति रम्मन कोसले, लक्ष्मण बघेल पिता भागीरथी बघेल ग्राम करही थाना साजा जिला बेमेतरा शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना