कवर्धा। नईदुनिया न्यूज

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्कूली छात्राओं और श्रमिक महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण और ब्रॉडेड साइकिल प्रदान करने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। प्रायः यह शिकायत प्राप्त होती है कि कम गुणवत्ता वाली सामग्रियों को स्थानीय स्तर एसंबल कर साइकिल तैयार कर छात्राओं और श्रमिक महिलाओं को प्रदान की जा रही है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इन शिकायतों को गंभीरता से लिया है और अधिकारियों को स्कूली छात्राओं और श्रमिक महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण और ब्रांडेड कंपनी की साइकिल ही प्रदान करने के निर्देश दिए है। वर्तमान में जिले के स्कूलों में सरस्वती साइकिल योजना अंतर्गत मुफ्त साइकिल का वितरण किया जा रहा है। अब आने वाले दिनों में स्कूली छात्राओं और श्रमिक महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण और ब्रांडेड कंपनी की साइकिल दी जाएगी।

शासकीय कार्यालयों में कपड़ों की खरीदी हथकरघा संघ करना होगा

इधर सीएम ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि शासकीय कार्यालयों में उपयोग होने वाले कपड़ों की खरीदी छत्तीसगढ़ ग्रामोद्योग विभाग के अंतर्गत गठित छत्तीसगढ़ हथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ के माध्यम से ही किया जाए। यहां कपड़े उपलब्ध नहीं होने पर इनकी अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करने के बाद ही बाहर से खरीदी की जाए। गौरतरब है कि बहुत से विभाग द्वारा खुली निविदा से बाहर से कपड़ों की खरीदी की जाती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस निर्णय से सहकारी संघ से जुड़े बुनकरों को इसका सीधा लाभ मिलेगा।

शिक्षा मंत्री से स्थानांतरण के लिए सीधे पत्राचार नहीं कर सकेंगे कर्मचारी

स्कूल शिक्षा विभाग के अधीनस्थ कर्मचारी अपने स्वयं के स्थानांतरण एवं अन्य कारणों से सीधे मंत्री से पत्राचार नहीं कर सकेंगे। सीधे पत्राचार करना छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम के विपरीत है। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी और विकासखंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी किया है। पत्र में कहा गया है कि विभाग के अंतर्गत अधीनस्थ कार्यालय व संस्थाओं में कार्यरत सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को निर्देशित किया जाए। छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम का पालन न करने वाले कर्मचारियों के विरूद्घ नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

शिक्षक भर्ती के लिए परीक्षा 28 को

स्कूल शिक्षा विभाग के सहायक शिक्षक विज्ञान (प्रयोगशाला) इ व टी संवर्ग पद पर भर्ती परीक्षा 28 जुलाई को होगी। इसके लिए प्रवेश-पत्र व्यापमं ने जारी कर दिया है। जिले में 15 केंद्र बनाए गए हैं, जहां 5225 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा सुबह 10 से दोपहर 1.15 बजे तक होगी। व्यापमं ने निर्देश दिया है कि परीक्षा दिवस में प्रत्येक परीक्षार्थी एक घंटा पूर्व अपने परीक्षा केंद्र में उपस्थित रहें, जिससे उनके मूल पहचान पत्र से उनका पहचान किया जा सके व परीक्षा केंद्र में जाने के लिए अनुमति दिया जा सकेगा। यदि इंटरनेट से प्राप्त प्रवेश पत्र पर फोटो नहीं आता है तो अभ्यर्थी अपने साथ दो रंगीन पासपोर्ट साइज फोटो लेकर परीक्षा केंद्र में जाएं। विभाग द्वारा परीक्षार्थियों को डाकघर के माध्यम से प्रवेश पत्र नहीं भेजा गया है। परीक्षार्थी को अपना फोटोयुक्त मूल आईडी प्रूफ जैसे- मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लायसेंस, पेन कार्ड, आधार कार्ड (ई-आधार कार्ड भी मान्य), पासपोर्ट, महाविद्यालय का फोटोयुक्त परिचय पत्र, फोटोयुक्त अंकसूची मूलरूप में (फोटोकॉपी मान्य नहीं) परीक्षा दिवस में परीक्षा केंद्र में लाना अनिवार्य होगा। मूल पहचान पत्र के अभाव में परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।