कवर्धा। नईदुनिया न्यूज

लगभग पिछले तीन महीने से भी ज्यादा समय बीत चुका है, लेकिन सब्जियां के दाम अभी तक स्थिर बने हुए है। बाहर से माल आने के बाद भी दामों में गिरावट नहीं आ रही है। यही नहीं, प्याज के दाम तो फिर से बढ़कर 70 से 80 रुपये किलो तक पहुंच गया है। नवीन बाजार में प्याज थोक रेट में 45 से 50 रुपये किलो बिक रही है। वहीं कुछ छोटे व्यापारी चिल्हर में इसे 80 रुपये किलो में बेच रहे है। जबकि दिवाली के पूर्व प्याज चिल्हर में 35 रुपये प्रति किलो थी। लेकिन 15 दिन में प्याज के थोक भाव में तेजी आई है। और प्याज के दाम 45 से 50 रुपये तक हो चुके है।

प्याज के थोक व्यापारियों के मुताबिक कवर्धा बाजार में प्याज नासिक की मंडियों से प्याज आती है। वहां की मंडियों के आधार पर यहां प्याज के भाव तय होते है। अगर नासिक मंडी में प्याज भाव तेज है, तो यहां भी भाव बढेंगे। दाम बढ़ने से खपत में गिरावट आई है। वर्तमान में यहां रोज 50 क्िवटल प्याज की खपत है, जबकि सामान्य खपत 80 क्िवटल प्रतिदिन है, लोकल आवक नहीं हो रही है। उद्यानिकी विभाग की मानें तो वर्ष 2018-19 में जिले के 1340 हेक्टेयर रकबे में प्याज की खेती हुई। इससे करीब 20 हजार 100 मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन का अनुमान है। यहां बेची जा रही प्याज के रेट के हिसाब से किसानों को नुकसान हुआ है।

आंकडो में समझिए, कवर्धा जिले में प्याज उत्पादन की स्थिति को

ब्लॉक रकबा(हे.में) उत्पादन(टन मे)

कवर्धा 450 6750

बोडला 150 2250

पंडरिया 190 2850

स.लोहारा 550 8250

कुल 1340 20100

Posted By: Nai Dunia News Network