कवर्धा(नईदुनिया न्यूज)। शहर में रविवार रात करीब 11 बजे हुए आदिवासी किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना की पूरी कहानी सामने आ गई है। इस मामले को लेकर बुधवार को एसपी शलभ कुमार सिन्हा ने प्रेस कांफ्रेस लेकर कहा कि दरअसल पूरा मामला किशोरी व उसके नाबालिग दोस्त के इर्दगिर्द ही है। एसपी ने बताया कि जिस आदिवासी किशोरी के साथ दुष्कर्म की घटना हुई थी, वह जांच में साफ हुआ कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म नहीं हुआ है। नाबालिग के साथ केवल एक ही युवक ने संबंध बनाए है, जिसमें उसका ही दोस्त शामिल है। किशोरी रात में घर से निकली थी और सिविल लाइन के आसपास उसके दोस्त ने ही दुष्कर्म किया, लेकिन दोनों ने मामले को छुपाने के लिए सामूहिक दुष्कर्म की बात कही। इसे लेकर पुलिस ने दो दिनों तक पूछताछ व जांच की। साथ ही मेडिकल चेकअप भी हुआ, जिसमें पता चला कि बालिका के साथ एक ही युवक ने दुष्कर्म किया है। उसके साथ किसी प्रकार का सामूहिक दुष्कर्म नहीं हुआ। इसके कारण धारा 376 डी धारा को हटाकर किशोरी के दोस्त के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

किशोरी बार-बार बदल रही थी बयान

पुलिस के मुताबिक शुरुआती जांच सामूहिक दुष्कर्म को लेकर की गई, लेकिन कोई ठोस प्रमाण नहीं मिले, क्योंकि किशोरी बार-बार अपना बयान बदल रही थीं। इस कारण पीड़िता से पूछताछ पर जोर दिया गया। इस दौरान कई बात सामने आई। इसके अलावा किशोरी के दोस्त से भी अलग-अलग पूछताछ की गई। इससे पूरी कहानी सामने आ गई और मामले का पता चल पाया। इस पूरे विवेचना में एसपी, एएसपी व डीएसपी रैंक के अफसर लगे हुए थे।

नाबालिग का बयान दर्ज किया

इधर किशोरी द्वारा बयान न बदले इसे लेकर पीड़िता का मजिस्ट्रेट बयान हुआ। इस दौरान किशोरी ने पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी। वहीं किशोरी की सीडब्ल्यूसी में काउंसलिंग कराई गई। दूसरी ओर घटना के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है, क्योंकि किशोरी के साथ हुई इस घटना क्रम से पूरे शहर व राज्य में भी हड़कंप मच गया था। खुद एसपी भी मामले की विवेचना को लेकर कोतवाली थाना में डटे रहे।

यह है पूरी कहानी - क्राइम सीन रिक्रियेशन कराया

विवेचना क्रम में किशोरी के साथ आए हुए उसके दोस्त से पूछताछ करने पर दोनों के द्वारा बताए गए घटनाक्रम में विरोधाभास पाया गया। मामला संदिग्ध प्रतीत होने पर किशोरी के दोस्त से और बारीकी से पूछताछ की गई तथा क्राइम सीन रिक्रियेशन किया गया। पूछताछ पर किशोरी के दोस्त ने प्रकरण में स्वयं की संलिप्तता स्वीकार करते हुए स्वयं के द्वारा किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के साथ ही किशोरी के साथ किसी प्रकार अज्ञात चार लड़कों द्वारा सामुहिक दुष्कर्म नहीं होने की बात को बताया। किशोरी के दोस्त ने बताया कि उसके द्वारा ही पीड़िता को पुराने जान-पहचान होने एवं प्रेम-प्रसंग के कारण कालेज ग्राउंड में लाकर जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाया गया। देर रात होने व पीड़िता के परिवार वालों के भय के कारण पीड़िता ने अपने कहा कि अब घर नहीं जाऊंगी, घर में सभी लोग डांट फटकार करेंगे, तुम मुझे अपने साथ ले चलने की बात कही, तब किशोरी के दोस्त ने किशोरी को बहला फुसलाकर किसी अज्ञात चार व्यक्तियों द्वारा दुष्कर्म किए जाने झूठी कहानी बनाई।

सौ से अधिक संदिग्ध से हुई पूछताछ

इधर इस गंभीर मामले को लेकर पुलिस ने शहर के करीब सौ से अधिक संदिग्ध से पूछताछ भी की थी, लेकिन कोई जानकारी हासिल नहीं हो पा रही थी। इस मामले संदिग्ध के स्वजन भी परेशान रहे, क्योंकि किशोरी किसी भी के खिलाफ आरोप लगा देती तो संदिग्ध के खिलाफ कार्रवाई हो जाती। संदिग्धों के स्वजन भी थाने के चक्कर काटते रहे

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस