कवर्धा (नईदुनिया न्यूज)।जिले में कोरोना का तांडव जारी है। पहली बार तीन दिनों में एक साथ 70 से अधिक स्कूली विद्यार्थी संक्रमित मिले हैं। लोहारा से लगभग 15 किलोमीटर दूर गांव कोटरा बुंदेली में विद्यार्थियों में सर्दी-खांसी के लक्षण दिखाई देने के बाद ग्रामीणों ने लोहारा बीएमओ डा. संजय खरसन से संपर्क किया। इसके बाद बुधवार को इस स्कूल के 74 विद्यार्थियों के सैंपल लिए गए। इनमें 24 विद्यार्थियों की रिपोर्ट पाजिटिव मिली। स्कूल को 72 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। विद्यार्थियों के संक्रमित मिलने के बाद इनके परिवार के सभी सदस्यों का भी सैंपल लिया गया है, जिसकी रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। शेष विद्यार्थी भी लोहारा ब्लाक के ही अन्य अलग-अलग गांवों के हैं। कवर्धा ब्लाक के बिरकोना में 15, समनापुर मे 13, अमलीडीह में छह, बदराडीह में दो विद्यार्थी संक्रमित मिले हैं। वहीं कई की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

इधर जिले में संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। अब जिले में कोरोना संक्रमित की संख्या 400 के पार हो गई है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य अमला भी एक्टिव हो गया है। बीते दिनों बोड़ला ब्लाक के रघ्घुपारा स्कूल में भी विद्यार्थी संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद स्कूल को बंद कर दिया गया। लेकिन जिले के सहसपुर लोहारा ब्लाक में एक ही दिन 32 से अधिक विद्यार्थी संक्रमित पाए जाने के बाद अलर्ट हो गए हैं।

शहरी क्षेत्रों में पालक नहीं भेज रहे बच्चों को स्कूल

जिले में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके अलावा स्कूली विद्यार्थी भी इसके शिकार हो रहे हैं। संक्रमण के खतरे को देखते हुए बहुत से अभिभावकों ने अपने बधाों को स्कूल भेजना बंद कर दिया है। खासकर शहरी क्षेत्र के पालक। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में स्कूल खुल रहा है। जो सबसे ज्यादा खतरा है। वैसे पूरे जिले में कवर्धा शहर में सबसे ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं। वर्तमान में 15 से 18 साल के बधाों का टीकाकरण किया जा रहा है। जिले में भी विद्यार्थियों को टीका लगाया जा रहा है। इसमें ज्यादातर हाई व हायर सेकंडरी स्कूल के है। वैसे 4 प्रतिशत से अधिक पाजिटिविटी रेट के चलते शासन के निर्देशानुसार शहर से 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाले स्कूलो को बंद कर दिया गया है।

टीकाकरण पर जोर जरूरी

जिले में टीकाकरण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वैसे पूरे जिले में अब तक 7 लाख से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इसमें पहले व दूसरे डोज के लोग शामिल है। इसक अलावा अब संक्रमण बढ़ने के साथ ही विशेष टीकाकरण अभियान शुरू करने की तैयारी में है। पूर्व में जिले में टीकाकरण अभियान प्रारंभ करने से सीधे तौर पर लाभ हुआ था। अब फिर से टीकाकरण अभियान प्रारंभ होने से और भी लाभ होगा।

स्वअध्ययन मल्टीमीडिया पाठ्य सामग्री तैयार

इधर विद्यार्थियों को अध्ययन प्रभावित न हो इसलिए राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) द्वारा राज्य के चुने हुए विषय-विशेषज्ञों के सहयोग से विद्यार्थियों के लिए हिन्दी माध्यम में स्व-अध्ययन मल्टीमीडिया पाठ्य सामग्री तैयार की गई है। कक्षा नौवीं से 12वीं तक के सभी विषयों की पाठ्य सामग्री का वीडियो यू-ट्यूब के पीटीडी सीजी चैनल में उपलब्ध है। इस पाठ्य सामग्री को यू-ट्यूब में देखा जा सकता है। एससीईआरटी के संचालक राजेश सिंह राणा ने इस संबंध में डीईओ से कहा है कि जिले में स्थित सभी हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों के प्राचार्यों को निर्देशित करें कि शिक्षकों को इसकी जानकारी दी जाए और अधिक से अधिक विद्यार्थी इन पाठ्य सामग्रियों का अध्ययन कर लाभ उठा सके।

अब आनलाइन पढ़ाई ही सहारा

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में कोविड के कारण उन्हें विद्यालय में नियमित अध्ययन नहीं हो पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में विद्यार्थियों के अध्ययन के लिए मल्टीमीडिया पाठ्य सामग्री तैयार की गई है। इन पाठ्य सामग्रियों को तैयार करने में बेहतर विजुलाइजेशन के साथ-साथ एनीमेशन, एक्सपेरिमेंट, आडियो, वीडियो, बोर्डवर्क, टेक्स्ट रीडिंग मेटेरियल का उपयोग किया गया है। यू-ट्यूब के पीटीडी छत्तीसगढ़ चैनल में कक्षावार पाठ्य सामग्री उपलब्ध है। इन मल्टीमीडिया सामग्री का उपयोग शिक्षक, आनलाईन शिक्षण या कक्षा शिक्षण में भी किया जा सकता है। इस सत्र में होने वाले बोर्ड तथा वार्षिक परीक्षा के तैयारी के लिए यह पाठ्य सामग्री बहुत उपयोगी होगी। इससे कोरोना काल में स्कूली विद्यार्थियों को काफी राहत मिलेगी।

आपातकाल से बचने के लिए टीका अवश्य लगवाएं : कलेक्टर

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कहा कि कोविड की तीसरी लहर आने के बाद कोविड संक्रमितों के निधन का राज्य स्तरीय डेटा समीक्षा करने से एक बात स्पष्ट रूप से सामने आया है कि कोविड टीका का डोज नहीं लगवाने वाले लोगों को आपातकाल अथवा दुखद परिस्थितियों का सामना अपेक्षाकृत अधिक करना पड़ रहा है। अतः सभी से अपील है कि कोविड टीका अवश्य लगवाएं और गाइडलाइन के अनुरूप उचित अंतराल के बाद दूसरा डोज भी अति आवश्यक है। शासन की ओर से कोरोना वारियर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स व वरिष्ठ नागरिकों के लिए कोविड के दूसरे डोज के नौ माह बाद प्रिकाशन डोज की शुरुआत भी कर दी गई है। अतः इस वर्ग के लोगों से भी अपील है कि प्रिकाशन डोज अवश्य लगवाएं। कोविड महामारी से बचने के लिए मास्क का अनिवार्य उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, भीड़ में जाने से बचने के साथ-साथ कोविड टीकाकरण अतिआवश्यक है।

पालकों की रिपोर्ट आना बाकी

लोहारा बीएमओ डा.संजय खरसन ने कहा- ग्रामीणों के द्वारा विद्यार्थियों में कोविड लक्षण दिखने के बाद उन्होंने मुझे जानकारी दी। इसके तुंरत बाद वहां टीम भेजकर सैंपल लिया गया, जिनमें 24 विद्यार्थी संक्रमित मिले हैं। एहतियातन उनके पालकों का सैंपल लिया गया है, जिनकी रिपोर्ट आनी अभी बाकी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local