बरबसपुर (नईदुनिया न्यूज)। नगर व ग्रामीण अंचलों में झमाझम लगातार बारिश फसल चौपट हो गई। किसान चिंता में डूब गए हैं। रबी फसल से हरे-भरे खेतों में फूल-फल निकल आए थे, जो बारिश में खराब हो गए। खेतों में पानी भर गया है। अरहर, तिवरा, चना व मटर की फसल पर गहरा प्रभाव पड़ा है। ग्राम डबराभाट के किसान साहेब लाल ओगरे, ग्राम बरबसपुर के किसान मानक लहरे, घुकसा के किसान मनोज टंडन, बीजाझोरी के किसान भोज कुमार यादव, सिंघनपुरी के किसान शिव कुमार बंजारे, कुमार पटेल, जेवडन खुर्द के किसान ठाकुर राम चंद्रवंशी, हरिनछपरा के किसान लालाराम भारती, राम्हेपुर के किसान ऋषि मिश्रा, जगदीश साहू चंडालपुर के किसान घनश्याम चौहान, दिलीप मिश्रा, धनी महिलांगे, उत्तम महिलांगे इन किसानों ने खेतों में रबी फसल बारिश के दौरान खेतों में पानी भर गए और फूल फल की फसल नष्ट हो गई इसकी भरपाई के लिए मुआवजा की मांग शासन प्रशासन से कर रहे हैं।

गन्ना लेने वाले किसान भी परेशान

बारिश के चलते गन्नाा कृषक और भोरमदेव शक्कर कारखाना के अधिकारी-कर्मचारी भी परेशान हो रहे हैं। बुनियादी समस्या से जूझना पड़ रहा है। कारखाना के पास गन्नाा कृषकों को पेट भर भोजन भी नहीं मिल पा रहा है। नाश्ता कर दिन गुजारना पड रहा है। ठंड से बेहाल हैं, अलावा के सहारे टिके हुए हैं। गन्नो से लदे ट्रैक्टर ट्राली के नीचे गुजर बसर कर रहे हैं। मैदान भी कधाा है, जो कीचड़ से लथपथ हो चुका है। गन्नो से लदे ट्रैक्टर कभी-कभी पलट जाते हैं, जिससे किसानो को दोबारा मेहनत करनी पड़ती है। यहां किसानों के रहने के लिए किसान, विश्राम भवन का अभाव है। बिजली, पानी, शौचालय की भ समस्या है।

टोल फ्री नंबर 1800-209-5959 पर दें क्षति की सूचना

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत गेहू, चना, अलसी फसलों को नुकसान होने की स्थिति में बीमित किसान को दावा भुगतान का प्रावधान है। फसल नुकसान की सूचना बीमा कंपनी, कृषि विभाग, राजस्व विभाग एवं बैंक को घटना के 72 घंटे के भीतर देना आवश्यक है। कृषि विभाग के उपसंचालक एमडी डड़सेना ने बताया कि बीमा कंपनी बजाज एलायंज जनरल इंश्योरेंस को सीधे टोल फ्री नंबर 1800-209-5959 या कंपनी के फारमित्र एप के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकते हैं। ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को भी लिखित सूचना 72 घंटे के भीतर दे सकते हैं। इसके सात एप्लीकेशन आइडी, खाता नंबर, आधार नंबर तथा मोबाइल नंबर देना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local