बरबसपुर (नईदुनिया न्यूज)। ग्राम पंचायत जरती के आश्रित ग्राम नाऊडीह के ग्रामीणों को कई प्रकार की समस्याओं के बीच बेवसी का जिंदगी जीने को मजबूर होना पड़ रहा है। कवर्धा विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत जरती के आश्रित ग्राम नऊडीह जिला मुख्यालय के महज आठ किलोमीटर दूर पर स्थित है। बावजूद यहां निवासरत ग्रामीणों को मूलभूत सुविधा से जूझना पड़ रहा, यहां के ग्रामीण पिछले कई सालों से बिजली पानी शिक्षा सड़क और स्वास्थ्य खाद्य राशन जैसी बुनियादी सुविधाओं के विस्तार के लिए मांग करते आ रहे हैं, लेकिन आज तक कोई ध्यान नहीं दिया गया।

गांव की आबादी 600 है। ग्रामीणों को राशन के लिए छह किलोमीटर दूरी तय करनी पड़ती है। उन्हें दौजरी पार कर जरती जाना पड़ता है, तब जाकर राशन मिलता है। यहां 200 से अधिक राशन कार्डधारी हैं। निस्तारी तालाब में पचरी नहीं है। ग्रामीणों की लकड़ी की सहारे से गुजर बसर करना पड़ रहा है। गली मोहल्ले कीचड़ से लथपथ हैं। पीएम सड़क की हालत अत्यंत खराब है, यह कीचड़ से अटी पड़ी है। जगह-जगह गड्ढे हैं। इससे राहगीर पहेशान हैं। वार्ड 11 और 10 को छोड़कर सभी वार्डों में सीसी रोड का अभाव है। लगातार बारिश के चलते गली, मोहल्ले व सड़क की सूरत और बिगड़ रही है। कीचड़ से लथपथ हो गई है। स्वास्थ्य सुविधा के लिए लोगों सीधे जिला मुख्यालय का रूख करना पड़ता है। ग्रामीण गांव में सामुदायिक भवन, उप स्वास्थ्य केंद्र और गोठान निर्माण का मांग की गुहार लगा रहे हैं। गोठान के अभाव में आधे तालाब में गो ठान संचालित हो रहा है और आधे तालाब में निस्तारी के लिए पानी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local