पोंडी (नईदुनिया न्यूज)। बीते दिनों 11 मई को जिस बाइक को चंदैनी पारा के खेत पास में लावारिस मिलने का केस पुलिस ने दर्ज किया था, उसी दिन की दरमियान रात में पोंडी के एक पुलिसकर्मी ने बाइक को एटीएम के सामने से उठाकर ले गई थी। यह मामला पोंडी चौकी का है। जहां लगातार लावारिस बाइक मिलने से आसपास के लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ था, लेकिन इंटरनेट मीडिया में वायरल एक वीडियो में मामला कुछ अलग ही दिख रहा है। दरअसल 11 मई की रात को पोंडी चौकी के एक प्रधान आरक्षक के साथ एक अज्ञात व्यक्ति के साथ पोंडी चौकी से 100 मीटर दूर एचडीएफसी बैंक के सामने रखे बाइक को 11 मई को रात 12ः36 बजे उठाकर वहां से ले गई, जिसके बाद 11 मई को ही पोंडी चौकी प्रभारी ने चदैंनी पारा से लावारिस मिलने का मामला दर्ज किया गया था।

सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से चला पता

बाइक को अपने पास कुछ दिनों के लिए रखे व्यक्ति ने वहां पास के दुकान में सीसीटीवी कैमरे का फुटेज निकलवाया, तो पुलिस ही बाइक को उठाकर ले जाते हुए नजर आई, लेकिन उसी दिन दोपहर में पुलिस की टीम चदैंनी पारा के खेत से उसकी बाइक लावारिस हालात में अपने कब्जे में लिया और लावारिस मिलने का केस बनाया। एटीएम के सामने सीसीटीवी कैमरे में की निगरानी में रखे बाइक वहां से गायब कर खेत में लावारिश मिलने का केस बनाने का तरीका समझ से परे है। अगर पोंडी पुलिस की टीम बाइक के मालिक पता लगाना चाहती तो उसी दुकान के सीसीटीवी कैमरे से चेक कर किसने बाइक रखा पता लगाया जा सकता था, लेकिन पुलिस को बाइक गायब करके उनको केस दर्ज करना था। इससे पोंडी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं। आखिर लगातार लावारिस बाइक मिलने की कहानी के पीछे राज क्या है। एक बाइक लावारिस मिलने के पीछे का राज सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया, अगर वहां सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा होता तो पुलिस का लावारिस बाइक मिलने की कहानी बनाने की नई तकनीक का पता नहीं चल पाता। अब इसमें मामले में पुलिस किस पर केस बनाएगी, आखिर बाइक को एक जगह से दूसरे जगह रखने वाला व्यक्ति पुलिस के इशारे में रात में बाइक उठाने का काम कर रहा है। अगर यही मामला कोई अन्य व्यक्ति करते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जाता तो उस व्यक्ति को चोरी के आरोप में पुलिस अब तक केस बना चुका होती।

ऐसी मिली मामले की जानकारी

पूरे मामले की जानकारी बाइक को अपने पास कुछ दिनों के लिए रखने वाले एक व्यक्ति ने दी उसने बताया कि उसके भतीजे के पास बाइक मालिक ने कुछ दिनों से उसके पास अपने बाइक को रखा हुआ था। जिसके बाद घर मे चार-पांच दिनों से बाइक नहीं मिलने पर उसने अपने भतीजे से बाइक के बारे में पूछा। जिस पर उसके भतीजे ने बाइक को पोंडी के एटीएम के सामने रखा होना बताया, जिसके बाद व्यक्ति ने पोंडी के शब्बीर किराना दुकान में सीसीटीवी कैमरे की फुटेज निकलवाई, जिस पर कैमरे में दिखा की पोंडी चौकी के पुलिस कर्मी किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ बाइक को वहां से उठाते हुए नजर आया। जिसके बाद जानकारी लेने पर व्यक्ति को पता चला कि उस बाइक को लवारिस बताकर पुलिस अपने कब्जे में ले लिया है। जिसके बाद व्यक्ति ने नईदुनिया की टीम से संपर्क किया, साथ ही बाइक रखने वाले व्यक्ति ने अपनी पहचान नहीं बताने की बात कही।

एटीएम के पास से लावारिस मिलने का केस बना सकती थी

पूरे मामले पोंडी पुलिस की टीम एटीएम पास से लावारिस बाइक मिलने का केस बना सकती थी, लेकिन बाइक का केस वहां से ना बनाकर दुकान से करीब 100-150 मीटर खेत के पास बाइक को लावारिश हालात में बाइक मिला है करके केस दर्ज किया गया है। पूरे मामले में जब पोंडी संवाददाता ने चौकी के प्रधान आरक्षक लवकेश खरे से बात की तो उन्होंने अज्ञात व्यक्ति का नाम नहीं बताने की बात कही, साथ ही मैं वहां मौजूद था, लेकिन इस मामले की जानकारी नहीं होने की बात कही। इसके साथ पोंडी चौकी के प्रभार में रहने वाले प्रधान आरक्षक समारू बंधु ने वीडियो देखकर बताया कि पोंडी चौकी प्रधान आरक्षक लवकेश खरे है जो वीडियो में दिखाई दे रहा है। साथ एक व्यक्ति की जानकारी नहीं हैं की बात कही, उन्होंने यह भी कहा कि इससे पहले पोंडी प्रभारी थे। उन्होंने पूरा मामला दर्ज किया, मेरे को जानकारी नहीं है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close