कवर्धा (नईदुनिया न्यूज)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में पंजाब सरकार द्वारा की गई चूक को लेकर भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश मंत्री एवं कबीरधाम जिला पंचायत की सभापति भावना बोहरा ने कहा कि प्रधानमंत्री का काफिला रोकना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रधानमंत्री के काफिले की जानकारी गुप्त रखी जाती है और केवल एसपीजी एवं पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी होती है और सम्बंधित राज्य की यह जिम्मेदारी बनती है कि वे काफिले के रास्ते और प्रधानमंत्री जी के सुरक्षा का विशेष ध्यान रखें।

भावना बोहरा ने कहा कि आंदोलनकारियों को पहले से प्रधानमंत्री जी के काफिले के गुजरने के बारे में जानकारी थी और पंजाब पुलिस उन्हें हटाने की बजाय उनका मनोबल बढ़ाने का काम कर रही थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काफिले को ओवरब्रिज में आंदोलनकारियों के कारण रोकना कांग्रेस सरकार का यह पूर्व नियोजित षड्यंत्र था। ये पंजाब सरकार की नाकामी है।

भावना ने कहा कि एक ओर पंजाब सरकार द्वारा इस प्रकार की घोर निंदनीय लापरवाही की जा रही है वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री द्वारा इस गंभीर विषय को नाटक बताया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रधानमंत्री की सुरक्षा में विफल पंजाब की कांग्रेस सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए अनावश्यक बयान देते हुए इसे ड्रामा बता रहें हैं जो कि निंदनीय है। भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और वहां के प्रधानमंत्री के काफिले को रोकना, यह सिर्फ भारत की बात नहीं, पूरे विश्व में भारत के मान-सम्मान, गरिमा, गौरव के ऊपर सवाल करता है। अपनी राजनीति चमकाने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा इतने संवेदनहींल मुद्दे को एक नाटक कहना अनुचित हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local