कोंडागांव (नईदुनिया न्यूज)। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत कार्य कर रहे संविदा कर्मचारी नियमित करने की मांग को लेकर आंदोलनरत रहे, उनके खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई, जिसका छत्तीसगढ़ अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन ने निंदा करते हुए कर्मचारियों की मांगों पर विचार करने की मांग की है। फेडरेशन के जिला संयोजक नीलकंठ शार्दुल ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने्रअपने घोषणा पत्र में समस्त संविदा कर्मचारियों को नियमित करने का वायदा किया था। कर्मचारियों के्र साथ बैठक कर इनकी मांगों पर ठोस निर्णय लेना चाहिए एवं सभी बर्खास्त कर्मचारियों को तत्काल कार्य पर वापस लेना चाहिए। वैसे भी कोरोना काल में स्वीकृत पदों से बहुत ही कम कर्मचारियों से काम कराया जा रहा है जिससे कर्मचारियों में अत्यंत निराशा का भाव है उन्हें कोई जोखिम भत्ता, प्रलोभन राशि एवं बीमा भी नहीं दिया जा रहा है। कोरोना आपदा काल में कई लोग बेरोजगार हो गये हैं, उपर से आंदोलन करने पर एस्मा लगाकर बर्खास्त किया जा रहा है। समर्थन में पीडी विश्वकर्मा,्र पदूमराणा, बलराम निषाद, रमेश पोयाम, प्रकाश सेठिया, चमनलाल वर्मा, रायसिंह यादव, विनोद नेताम, जयसिंह मरावी, विशेश्वर यादव, शेख लाल, गंगाराम, सुदर्शन, मीना बाई, सातबती आदि पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020