फोटो 47 पुलिस गिरफ्त आरोपित

कोंडागांव। मां को पिता मार रहे थे, बेटा छुड़ाने गया तो पिता उससे भी झगड़ा करने लगा। दोनों के बीच लड़ाई इतनी बढ़ी कि बेटे ने पिता के हाथ से कुल्हाड़ी छीनकर उन्हीं के सिर पर वार कर दिया था। इससे मौके पर ही पिता की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस दूसरे दिन आरोपित बेटे को गिरफ्तार कर घटना में शामिल कुल्हाड़ी भी बरामद कर लिया।

हाटचपई निवासी मसाय बाई (42) ने पति की मारपीट से तंग आकर बेटे ने पिता की हत्या की शिकायत शुक्रवार को थाना धनोरा में दर्ज कराई। जिस पर धनोरा पुलिस ने धारा 302 भादवि अपराध पंजीबद्ध कर हत्या के आरोपित अस्सीराम (19) को गिरफ्तार कर शनिवार को न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद किया।

पुलिस के मुताबिक रैनूराम नशे की हालत में 23 जून की रात करीब नौ बजे घर पहुंचा और खाना मांगने पर पत्नी मसाय बाई ने खाना दी। खाना ठीक से नहीं बनाती बोल पत्नी से मारपीट करने लगा। मां के साथ पिता द्वारा मारपीट करते देख बेटा अस्सी राम बीच-बचाव करने पहुंचा, बेटे के साथ भी पिता मारपीट पर उतारू हुआ। इससे नाराज बेटे ने हमेशा घर में झगड़ा-लड़ाई मारपीट करते हो, बोलकर जान से मारने की नियत से पिता के हाथ से कुल्हाड़ी छीन पिता रैनू राम के सिर पर कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी।

---------

21 वर्षों से फरार आरोपित गिरफ्तार

जगदलपुर। पुलिस की ओर से चलाए जा रहे गुंडा-बदमाश विरोधी मुहिम के तहत कोतवाली पुलिस ने 21 सालों से फरार चल रहे हत्या व लूट के आरोपित स्थायी वारंटी विद्यासागर पिता धीरनाथ निवासी गोरबहार,सतोषा थाना करपावंड को गिरफ्तार किया गया है। टीआई कोतवाली एमन साहू ने बताया कि एसएसपी द्वारा फरार स्थायी वारंटी के धरपकड़ के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके परिपालन में नगर क्षेत्र में हत्या एवं लूट मामले में बीते 21 वर्षों से लगातार फरार चल रहे स्थायी वारंटी स्थायी वारंटी विद्यासागर पिता धीरनाथ निवासी गोरबहार की पतासाजी कर गिरफ्तार किया गया। आरोपित के विरूद्ध मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जगदलपुर की अदालत में आईपीसी की धारा 147, 302ख् 324 व धारा 392 के तहत प्रकरण लंबित है। कार्रवाई में निरीक्षक दिलबाग सिंह सउनि विनायक सिंह ठाकुर आरक्षक सोमा कवासी की उल्लेखनीय भूमिका रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close