कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोनाकाल में 5000 प्रवासी मजदूरों के वापसी के अनुमान से जिले में 146 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए। कृषि कार्य शुरू होने से लगभग अधिकांश मजूदरों की वापसी हो चुकी है। क्वारंटाइन सेंटर में तीन माह के भीतर 798 प्रवासी मजदूर ठहरे। पांच में से चार विकासखंड के 92 क्वारंटराइन सेंटर खाली हो गए हैं। केवल करतला विकासखंड के 12 सेंटर में 136 मजदूर शेष हैं। सप्ताह भर के भीतर इन मजदूरों की भी क्वारंटाइन समय पूरा होने से घर वापसी हो जाएगी।

कोरोना के दूसरी लहर में पहली की अपेक्षा कम मजदूरों की वापसी हुई हैं। 5000 मजदूरों के वापसी की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन ने 146 आश्रम छात्रावासों को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था। पहली लहर में मजदूरों को हुई असुविधा को को देखते हुए बिजली, पानी और शौचालय की सुविधा युक्त चुनिंदा स्कूलों को ही सेंटर बनाया गया था। सेंटर बनाए जाने के उपरांत इन केंद्रों में तीन माह के भीतर 798 मजदूरों की वापसी हुई। पोड़ी- उपरोड़ा, पाली, कटघोरा और कोरबा के सभी 92 क्वारंटाइन सेंटर खाली हो चुके हैं। कम संख्या में वापसी होने से केंद्रों में असुविधा नहीं झेलनी पड़ी। अब तक 647 मजदूर सेंटर छोड़ कर घर वापस जा चुके हैं। मानसून आगमन को देखते हुए खेती किसानी का दौर शुरू हो चुका है, अधिकांश मजदूरों की वापसी हो चुकी है। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार कम हो रही है। ऐसे में माना जा रहा है कि मजूदरों की वापसी पूरी हो चुकी है।

होम क्वारंटाइन के लिए दी गई है अनुमति

क्वारंटाइन सेंटर को प्रवासी मजदूरों के आलावा स्थानीय लोगों के उपयोग के लिए बतौर होम क्वारंटाइन के रूप में भी स्वीकृति दी गई थी। संक्रमितों की संख्या अधिक होने के बावजूद क्वारंटाइन सेंटर के बजाए घर पर ही स्वास्थ्य लाभ लेना उचित समझा। क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों को आगमन भले ही समाप्त हो चुका हैं लेकिन संचालन अब भी जारी है।

30 संक्रमितों को भेजा गया कोविड सेंटर

क्वारंटाइन सेंटर में वापस हुए 798 में से 751 मजदूरों की कोरोना जांच हुई। इनमे 30 मजदूर संक्रमित पाए गए। संक्रमितों को आवश्यकतानुसार स्वास्थ्य लाभ के लिए कोविड अस्पताल में दाखिल किया गया। जहां से स्वस्थ्य होने के बाद उन्हें घर जाने की अनुमति दे दी गई। क्वारंटाइन सेंटर में शेष बचे मजदूरों में एक भी संक्रमित नहीं हैं।

---------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags