कोरबा । बैल के गले में घंटी किसी ने निकाल ली और इसे लेकर पड़ोसियों के साथ विवाद शुरू हो गया। बात इतनी आगे बढ़ गई कि पड़ोसी परिवार के पांच सदस्य एकसाथ घर में घुस कर मारपीट करते हुए जमकर हंगामा किया। आंगन में गड़े एक खंभे में उसे बांध कर लाठी व लात घूसों से तब तक पीटते रहे, जब तक उसकी मौत न हो गई।

यह अमानवीय घटना मोरगा पुलिस चौकी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम कुमहीपानी के धजाक पारा की है। यहां रहने वाले बाल साय तिर्की 45 साल का विवाद पड़ोस में रहने वाले वीरेंद्र एक्का से चल रहा था। बताया जा रहा है कि पहले भी छोटी- छोटी बातों को लेकर दोनों के बीच अक्सर विवाद हुआ करता था। अभी हाल ही के दिनों में बालसाय के पालतू बैल के गले से किसी ने घंटी निकाल ली। साथ ही घर के बाड़ी का लकड़ी से किए गए घेरा को तोड़ दिया गया। बालसाय को यह संदेह था कि इस हरकत पड़ोसियों ने ही किया है। इसे लेकर भी उनके बीच विवाद शुरू हो गया था। 24 सितंबर की रात करीब आठ बजे वीरेंद्र एक्का अपनी पत्नी बुधमनिया 25 वर्ष, मां खलासो एक्का 45 वर्ष, भाई फ़िलिप एक्का 30 वर्ष व उसकी पत्नी सोनामनी एक्का 24 वर्ष के साथ बालसाय के घर जा पहुंचे और विवाद करने लगे। देखते ही देखते विवाद गहरा गया और गुस्साये एक्का परिवार ने बालसाय को एक लकड़ी के खुंटे से रस्सी में बांध दिया और लाठी डंडा से बुरी कदर पीटने लगे। गंभीर चोटें आने की वजह से उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर मोरगा पुलिस की टीम मौके पर पहुंच कर वैधानिक कार्रवाई की। सभी पांच आरोपितों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 460, 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने घटनास्थल से डंडा व रस्सी भी जब्त करने की कार्रवाई की है। गिरफ्तार आरोपितों को कटघोरा उपजेल भेज दिया गया है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close