कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोयला की सबसे बड़ी कारोबारी कंपनी आर्यन कोल बेनीफिकेशन (एसीबी) में प्रशासन की अलग- अलग आठ टीम ने दबिश दी है। कंपनी के दीपका स्थित एसीबी पावर लिमिटेड व कोल वाशरी में जांच पड़ताल की गई। परिसर में रखे कोयले के भंडारण से जुड़े दस्तावेज खंगाले गए। शाम को शुरू हुई कार्रवाई देर रात तक जारी रही।

बुधवार को शाम करीब चार बजे अचानक कलेक्ट्रेट के अधिकारियों में हलचल हुई और खनिज, पर्यावरण संरक्षण मंडल, नापतौल, जीएसटी,व राजस्व विभाग के अलावा पुलिस के अधिकारी व जवानों समेत करीब 50 अधिकारी- कर्मचारी दीपका के लिए रवाना हो गए। किसी को यह जानकारी नहीं दी गई थी की कहां जाना है। दीपका थाना में सभी एकत्रित हुए, उसके बाद एसीबी कंपनी के दीपका में संचालित प्रतिष्ठानों में दबिश देने की जानकारी दी गई। एक साथ 12 से 15 गाड़ी में कोलवाशरी, कंपनी के रतिजा व चाकाबुड़ा पावर प्लांट में अधिकारियो की टीम प्रवेश की। एसीबी कोल वाशरी में पंजाब, गुजरात समेत कई राज्यों का कोयला धुलाई के लिए पहुंचता है और धुलाई के बाद मालगाड़ी के रैक में लोड कर भेजा जाता है। कार्रवाई का नेतृत्व पोड़ी उपरोड़ा के एसडीएम नंदजी पांडेय कर रहे। इस छापा मार कार्रवाई की जानकारी देने से प्रशासनिक अधिकारी बचते रहे, पर बताया जा रहा है कि कोयले के स्टाक में गड़बड़ी, भूमि संबंधी दस्तावेजों में कमियां, पर्यावरण के नियमों का उल्लंघन, वेब्रिज के कैलिब्रेशन में अंतर शिकायत मिलने पर रायपुर के शीर्ष अधिकारियों के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। पर्यावरण संरक्षण मंडल के अंकुर साहू का कहना था कि अभी जांच चल रही है। जांच पूरी होने के बाद ही जानकारी दी जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close