कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

गेवरा में बीस वर्ष से एक ही स्थान पर कर्मचारी से अधिकारी बने उत्खनन विभाग के अफसर को प्रबंधन ने स्थानांतरित कर दिया। इनमें कार्यालय में जमे अधिकांश लोगों को फील्ड में भेजा गया है। कई प्रकार की शिकायत सामने आने के बाद प्रबंधन ने इस तरह का पहली बार अंतर प्रोजेक्ट तबादला किया है।

एसईसीएल ने फोरमैन के पद पर कार्यरत कर्मियों को सबोर्डिनेट इंजीनियर बनाने हेतु विभागीय परीक्षा ली। सफल अभ्यर्थियों को सबोर्डिनेट इंजीनियर बना दिया, पर इन कर्मियों का तबादला अन्यत्र नहीं किया, इसलिए वर्षों से फोरमैन के पद पर कार्यरत इन अफसरों को उसी स्थान पर पदस्थ किया गया। नियमतः प्रमोशन होने के बाद अन्यत्र तबादला किया जाता है, पर यहां नियम की अनदेखी की गई। जानकारों का कहना है कि प्रमोशन के बाद जमे इनमें कुछ अफसर मनमानी भी करने लगे। बताया जा रहा है कि उच्च प्रबंधन के पास ऐसे अफसरों की लगातार शिकायत मिलने लगी और कर्मियों में भी नाराजगी व्याप्त हो गई थी। इस पर उच्च प्रबंधन ने लंबे समय से जमे अफसरों को अंतर प्रोजेक्ट तबादला करने का निर्णय लिया। उच्च प्रबंधन ने उत्खनन विभाग के 56 सबोर्डिनेट इंजीनियरों को इधर से उधर किया है। खासतौर पर कार्यालय में जमे अफसरों को फील्ड में भेजा है और फील्ड से कई अफसर को कार्यालय स्थानांतरित किया है। इसमें उत्खनन विभाग के ई-वन से लेकर ई-सिक्स ग्रेड के डिप्टी मैनेजर रैंक के अफसर शामिल हैं। प्रबंधन ने इन अफसरों को ड्रिल एवं हाईड्रोलिक सावेल, ईआर सावेल सेक्शन, डोजर सेक्शन वेस्ट, डोजर सेक्शन ईस्ट, डंपर 240 टन पार्किंग शिफ्ट, डंपर 240 टन, डंपर कटरपिल्लर 100 टन, डंपर बीएच 150 टन, डंपर एमके 30 बी, 120 टी, डंपर शिफ्ट वर्कशॉप, वाटर स्प्रिंकलर फ्लोडर, क्रेन व ग्रेडर सेक्शन, टायर-मशीन शॉप, डीजल पंप, उत्खनन ऑफिस के अफसर शामिल हैं। प्रबंधन के एकाएक तबादला किए जाने से इन अफसरों में ह़ड़कंप मच गया है। सबसे ज्यादा परेशान ऐसे अफसर हैं, जो लंबे समय से कार्यालय में जमे हुए थे। उन्हें अब फील्ड में शिफ्ट ड्यूटी करना पड़ेगा।

अन्य विभाग के अफसर भी होंगे इधर से उधर

गेवरा में फिलहाल सिर्फ उत्खनन विभाग के सबोर्डिनेट इंजीनियर, डिप्टी मैनेजर तथा अस्सिटेंट मैनेजर को ही इधर से उधर किया गया है। बताया जा रहा है कि जल्द ही अन्य विभागों के भी अफसरों इधर से उधर किया जाएगा। प्रबंधन इसकी सूची तैयार करने जुट गया है और संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही सूची जारी की जाएगी।