कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरबा के ट्रांसपोर्टर व कोयला कारोबारी हेमंत जायसवाल के घर दूसरे दिन भी आयकर विभाग की जांच पड़ताल जारी रही। इसके अलावा इस कारोबारी से जुड़े दो अन्य लोग भी आयकर विभाग के निशाने पर आ गए हैं। उनके घर भी आयकर विभाग ने जांच पड़ताल कर कुछ आवश्यक दस्तावेज जब्त किए हैं।

पश्चिम बंगाल के आयकर विभाग के अधिकारियों की टीम नागपुर में ठहरी थी। यहां से गुरूवार को सुबह छत्तीसगढ़ के सात जिलों में एक साथ छापेमार कार्रवाई की गई। रायपुर व महासमुंद निवासी कांग्रेस के नेता सूर्यकांत तिवारी के घर दबिश दी गई। उसके साथ जुड़े कोल ट्रांसपोर्टर कोरबा निवासी हेमंत जायसवाल के निवास में भी एक साथ छापा मारा गया। 24 घंटे से अधिक समय से कोयला कारोबारी जायसवाल के घर में जांच पड़ताल की जा रही। शुक्रवार को सुरक्षा बल के जवानों की संख्या बढ़ा दी गई थी। पूरे दिन टीम दस्तावेज खंगालने में लगी रही। सूत्रों के अनुसार पावर हाउस निवासी एक जमीन व कपड़ा व्यवसाय से जुड़े व्यक्ति के घर भी टीम ने दबिश दी है। यहां से भी कुछ जमीन के दस्तावेज मिलने की खबर है। आयकर विभाग ने एक टीम ने डीडीएम रोड में स्थित श्रीकृष्णा हाइट्स कालोनी के एक बंद आवास का ताला तोड़ कर जांच पड़ताल की है। यहां हेमंत से जुड़े लोगों का उठना बैठना था। खबर भी यह भी है कि यहां से करीब 100 करोड़ की रजिस्ट्री के दस्तावेज आयकर विभाग के अधिकारियों ने जब्त किया है। कालोनी के मुख्य द्वार में रखे रजिस्टर में आने जाने वाले लोगों की एंट्री भी खंगाली गई। नोट गिनने की मशीन मिलने की भी खबरें आ रही। जमीन के कारोबार से जुड़े शारदा विहार निवासी एक व्यक्ति से भी टीम ने पूछताछ की है। इस व्यक्ति का ट्रांसपोर्ट नगर में जूस सेंटर भी संचालित है।

कोलवाशरी बिक्री का मामला भी जांच के दायरे में

सूत्रों का दावा है कि कोथारी के पास जमनीपाली व पचपेड़ी में लंबे समय से संचालित एक कोलवाशरी की जमीन तीन जून को बेची गई है। इसे रजनीकांत तिवारी महासमुंद निवासी किसी व्यक्ति ने खरीदा है। इस संपत्ति की कुल 12 रजिस्ट्रियां हुई है, जिसमें हेमंत जायसवाल भागीदार है। शेष सभी रजिस्ट्रियां रजनीकांत के नाम पर हुई है। बताया जा रहा है कि यह मामला भी जांच के दायरे में आ गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close