कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ अपने भाई को चुनाव लड़ाने वाले कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ के संयुक्त सचिव को हटाए जाने की मांग मुखर होने लगी है। विधायक समेत कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने पीसीसी चीफ को पत्र लिखकर कार्रवाई करने कहा है।

नगरीय निकाय चुनाव निपटने एवं सत्तारूढ़ होने के बाद कांग्रेस ने बागी लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। जिले में पहला मामला नगर पंचायत पाली का सामने आया है। यहां वार्ड क्रमांक 14 से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में रविश राठौर ने नामांकन दाखिल किया था। बताया जा रहा है कि रविश राठौर के भाई अधिवक्ता राजेश राठौर कांग्रेस पार्टी विधि प्रकोष्ठ में संयुक्त सचिव के पद पर पदस्थ हैं। वरिष्ठ नेताओं की समझाइश के बाद भी रविश ने नाम वापस नहीं लिया। पाली-तानाखार के विधायक मोहितराम केरकेट्टा, संयुक्त महामंत्री प्रशांत मिश्रा, सचिव नवीन सिंह, चयन समिति अध्यक्ष शैलेष सिंह, महामंत्री दीपक सोनकर, सचिव अनिल सिंह परिहार ने इस संबंध में पीसीसी चीफ को पत्र लिखकर कहा है कि वार्ड क्रमांक 14 से चुनाव लड़ने उतरे रविश कुमार के पक्ष में उनके भाई अधिवक्ता राजेश कुमार ने प्रचार-प्रसार किया। प्रदेश विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संदीप दुबे, जिला कांग्रेस कमेटी व ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की ओर से समझाइश दी गई, पर उन्होंने नाम वापस नहीं लिया और न ही कांग्रेस पार्टी का काम किया। इससे पार्टी पदाधिकारियों को अपमानित होना पड़ा। उन्होंने संयुक्त रूप से विधि प्रकोष्ठ के संयुक्त सचिव अधिवक्ता राजेश राठौर को पार्टी से निष्कासित करने की मांग की है। मामले में वार्ड क्रमांक 14 के कांग्रेस पार्षद प्रत्याशी ने लिखित में भी शिकायत पत्र सौंपा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket