कोरबा। बिलासपुर से यात्रियों को लेकर आ रही विरक बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में 15 यात्री घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया गया। चार यात्रियों की गंभीर स्थिति को देखते हुए सिम्स रेफर किया गया है। सड़क निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे में पहिए के उतर जाने से हादसा होने की बात कही जा रही है। बहरहाल पुलिस ने मामले में जुर्म दर्ज करते हुए फरार चालक की तलाश शुरू कर दी है।

घटना पाली थानांतर्गत ग्राम धौराभांठा के समीप दोपहर करीब 3.30 बजे घटित हुई। कोरबा-हरदीबाजार- बिलासपुर के बीच विरक बस क्रमांक सीजी 10 जी 1509 का संचालन किया जाता है। सोमवार की दोपहर चालक बस में यात्रियों को लेकर बिलासपुर से कोरबा के लिए रवाना हुआ था। बस में करीब 75 यात्री सवार थे। पाली में कुछ देर रूकने के बाद चालक पुनः दीपका के लिए रवाना हुआ था। पाली से महज पांच छह किलोमीटर दूर ग्राम धौंराभाठा के समीप बस पहुंची थी कि चालक ने नियंत्रण खो दिया।

अनियंत्रित बस का एक पहिया सड़क निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे में समा गया। इससे बस एक ओर झुककर पलट गई। बस के पलटते ही उसमें सवार यात्रियों में अफरातफरी मच गई। इस बीच मौका मिलते ही चालक भाग निकला। जैसे ही घटना की जानकारी ग्रामीणों को हुई, वे मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने बचाव कार्य शुरू करते हुए मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस जब तक मौके पर पहुंचती, ग्रामीणों ने संजीवनी एक्सप्रेस के माध्यम से हादसे में घायल 15 यात्रियों को पाली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया था।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों ने मामूली रूप से घायल 11 यात्रियो को प्राथमिक उपचार के पश्चात छुट्टी दे दी। गंभीर रूप से घायल मुड़ापार निवासी संतोष कुमार (38), चाडहा निवासी टिकैतीन बाई (38), रैंकी निवासी राजकुमार (55) व चोढ़ा निवासी राजकुमारी (23) की हालत को देखते हुए सिम्स रेफर कर दिया। बहरहाल मामले में पुलिस ने आरोपी बस चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए उसकी तलाश शुरू कर दी है।

गौरतलब है कि बीते माह ओवरलोड की वजह से ही दो सड़क हादसे में दर्जन भर से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद भी वाहन चालक लापरवाही बरत रहे है। परिवहन विभाग किसी हादसे के बाद ही जांच अभियान चला कर इतिश्री कर लेता है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local