कोरबा(नईदुनिया प्रतिनिधि)। निजी स्कूलों की तरह बेहतर पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए जिले में तीन अतिरिक्त आत्मानंद स्कूलों को स्वीकृति मिली है। अनुमति देरी से मिलने की वजह से अब यहां सीबीएसई बोर्ड के लिए आवेदन करना संभव नही है। ऐसे में इन सीजी अंग्रेजी माध्यम कोर्स की पढ़ाई होगी। कोरबी, पसान और बालकों शुरू होने वाली स्कूलों के लिए एक जुलाई से भर्ती शुरू होगी।

जिले में तीन नए आत्मानंद स्कूलों की स्वीकृति मिलने से संख्या अब 10 हो गई है। पूर्व जिन जगहों में स्कूल संचालन की स्वीकृति मिली है उनमें पंप हाउस, कटघोरा, हरदीबाजार, करतला, पाली, पोड़ी-उपरोड़ा और एनसीडीसी स्कूल शामिल है। तीन अतिरिक्त स्कूलों में दो दूर दराज के ग्राम पंचायत है वहीं वहीं एक शहरी क्षेत्र शामिल है। जिला शिक्षा अधिकारी की माने तो ग्रामीण अंचलों में आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल खुलने स्थानीय बच्चों को लाभ होगा। शहरी क्षेत्र में स्कूल की शुरूआत होने से निजी स्कूल में बढ़ने वाली फीस में कसावट आएगी। बताना होगा कि शिक्षा विभाग ने तीनों नए स्कूलों में एक जुलाई से दाखिला लेने का निर्णय लिया है। इस वर्ष बच्चों का सीजी पाठ्यक्रम को अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाया जाएगा। आगामी वर्ष में सीबीएसई कोर्स के लिए अनुमति ली जाएगी।

पुराने प्रायमरी स्कूल में लगेगी कक्षाएं

आत्मानंद स्कूल के लिए भवन की सुविधा नहीं होने स्वीकृत नए स्कूल की कक्षाएं गांव के प्रायमरी स्कूल में ही लगेंगी। दूसरी से लेकर उपर कक्षा के बच्चों की पढ़ाई हिंदी माध्यम से जारी रहेगा। सीबीएसई पैटर्न के आधार पर पढ़ाई के लिए भवन को नए सिर से विस्तार दिया जाएगा। बीते वर्ष स्वीकृत पाली, करतला, पोड़ी उपरोड़ा आदि स्कूलों भवन निर्माण किया जा रहा है।

शिक्षकों की नहीं हुई पदस्थापना

भले जी शासन ने नए स्कूलों के संचालन को अनुमति दे दी है, लेकिन यहां शिक्षकों भर्ती नहीं हुई है। ऐसे में सीजी हिंदी माध्यम के शिक्षक ही पढ़ाई को गति प्रदान करेंगे। बताना होगा बीते दो वर्षों से संचालित स्कलों में भी शिक्षकों की समस्या देखी जा रही। कोरोना काल में देरी से सत्र की शुरूआत होने की वजह से शिक्षकों की भर्ती किए बगैर ही कक्षाएं संचालित जारी रहीं

जिले में तीन नए आत्मानंद स्कूलों की शुरूआत हो रही है। एक जुलाई से यहां भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसकी तैयारी पूरी हो चुकी हैं। कक्षा का संचालन सीजी अंग्रेजी माध्यम से होगा आगामी वर्ष में सीबीएसई से अनुमति लेकर केंद्रीय पाठ्यक्रम संचालित किया जाएगा।

जीपी भारद्वाज, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close