बांगो, नईदुनिया न्यूज। तीन दिन पहले जंगल में मिली बेवा महिला की रक्तरंजित लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। दामाद ने टंगिया से सिर पर वार कर सास की हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपित दामाद को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित अपनी पत्नी पर शंका कर अक्सर मारपीट किया करता था, जिसकी वजह से उसकी सास पति को छोड़कर मायके आ जाने की सलाह अपनी बेटी को देती थी। इस बात से दामाद सास से नाराज था।

मोरगा चौकी अंतर्गत चोटिया नवापारा में रहने वाली हिरोंदिया बाई पति स्वर्गीय बुधवार (45) का शव परला के जंगल में गुरुवार की दोपहर चरवाहों ने देखा था। प्रथम दृष्टया यह मामला हत्या का प्रतीत हो रहा था, क्योंकि महिला के सिर पर धारदार हथियार से हमला किए जाने का जख्म सापु दिखाई दे रहा था। पुलिस इस आधार पर मामले में मर्ग कायम कर आरोपित की पतासाजी कर रही थी। इस दौरान मृतका के पुत्र ने पुलिस को बताया कि उसका जीजा भदरापारा चोटिया निवासी विशाल सिंह पिता मोहितराम बिंझवार (32) अपनी पत्नी पर संदेह कर मारपीट किया करता था, जिसकी वजह से हिरोंदिया अपनी पुत्री को तलाक लेने की सलाह देती थी।

यही वजह है कि विशाल सिंह सास व साले को मार डालने की धमकी दिया करता था। इसकी जानकारी लगते ही पुलिस ने उसकी खोजबीन शुरू की। इस बीच पुलिस ने हिरोंदिया की पुत्री से भी पूछताछ की। तब उसने बताया कि 24 सितंबर मंगलवार को उसका पति बौरा गया था और उसे और बच्चों को मार डालने उतारू हो गया। डर कर वह बच्चे को लेकर जंगल में छिप गई थी। उधर विशाल सिंह सास को मारने के लिए उसके घर जा पहुंचा, लेकिन वह लकड़ी बीनने जंगल गई हुई थी। उसे ढूंढ़ते हुए जंगल की ओर पहुंचा, जहां उसकी मुलाकात हिरोंदिया बाई से हो गई।

आरोपित ने हिरोंदिया को देखते ही उस पर कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। घटना को अंजाम देकर वह मौके से फरार हो गया। हिरोंदिया का पुत्र घर पर नहीं था, इसलिए उसे पता नहीं चल सका कि उसकी मां लापता है। दूसरे दिन शव जंगल में मिला और घटना आम हुई। पुलिस ने विशाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। आरोपित के खिलाफ धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

बच्चों को लेकर पत्नी छिपी रही जंगल में

मंगलवार की सुबह पत्नी से विवाद के बाद विशाल के सिर पर खून सवार था। उसे देखकर पत्नी व उसके बच्चे काफी डरे हुए थे। पत्नी व बच्चे दो दिन तक जंगल में छिपे रहे, इस कारण हिरोंदिया की पुत्री को घटना की जानकारी नहीं हो पाई। शव मिलने के दूसरे दिन उसे अपनी मां की मौत के बारे में पता चला। घटना के बाद से विशाल पुलिस से नजरें बचाता छिप रहा था। पुलिस ने उसे ढूंढ़कर हिरासत में लिया, तब जाकर हकीकत सामने आई।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket