कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

आइटी कॉलेज में पहले चरण की प्रवेश प्रक्रिया के तहत काउंसलिंग में पात्रता साबित करने वाले विद्यार्थियों की पहली सूची जारी कर दी गई है। मंगलवार को जारी एआइसीटीई की लिस्ट में 28 छात्र-छात्राओं को सीट अलॉट करते हुए आइटी कॉलेज में दाखिले का मौका दिया है। कॅरियर के दृष्टिकोण से आज भी कंप्यूटर साइंस का क्रेज बरकरार है, इस बात का पता इससे ही चलता है कि इंजीनियरिंग की चार ब्रांच वाले कॉलेज में सर्वाधिक ग्यारह सीट का अलॉटमेंट सीएसई (कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग) को ही मिला है। इसके अलावा सिविल में 10, मैकेनिकल में पांच व ईईई में दो सीट अलॉट हुए हैं।

छत्तीसगढ़ पीईटी में चयनित जिले व राज्य के अभ्यर्थियों की प्रथम चरण की काउंसलिंग के बाद आवंटित किए गए 28 सीट पर एडमिशन लेने अवसर देते हुए प्रक्रिया सोमवार से शुरू की गई। कॉलेज के बीई पाठ्यक्रम में एडमिशन प्राप्त करने छात्र-छात्राओं ने दस्तावेज परीक्षण कराते हुए काउंसलिंग में भाग लिया था। प्रक्रिया में चार ब्रांच समेत आइटी कॉलेज में उपलब्ध प्रथम वर्ष की कुल 240 सीट के विपरीत पहले चरण में 28 विद्यार्थियों का चयन कर अलॉटमेंट दिया गया है। अलॉट की गई सीट में कंप्यूटर साइंस के लिए सर्वाधिक ग्यारह, सिविल के लिए 10, मैकेनिकल में पांच व सबसे कम दो सीट इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में आवंटित की गई है। सीट अलॉटमेंट के बाद अब पात्रता सूची में शामिल किए गए छात्र-छात्राओं को फीस व अन्य औपचारिकताएं पूर्ण कर अपने पसंदीदा ब्रांच लेकर कॉलेज में दाखिला प्राप्त करने पांच दिन का समय दिया गया है।

अलॉटेड सीट में प्रवेश पाने 29 तक वक्त

आइटी कॉलेज समेत राज्य के 46 इंजीनियरिंग कॉलेजों में सीटें भरने 14 जून से पहले चरण की काउंसलिंग शुरू हुई थी। काउंसलिंग के माध्यम से किस कॉलेज में कितने विद्यार्थियों ने प्रवेश प्राप्त करने पात्रता साबित की है, इसका निर्धारण कर मंगलवार को छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय (सीएसवीटीयू) ने अलॉटमेंट लिस्ट जारी की। सीट अलॉट करा चुके 12वीं पास 28 छात्र-छात्राओं एडमिशन प्राप्त करने का अवसर दिया गया है। प्रवेश प्राप्त करने 29 जून तक का वक्त है। दिए गए वक्त तक अलॉटेड सीट पर प्रवेश न हुआ तो आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

दो से शुरू होगी दूसरे चरण की प्रक्रिया

अंतिम तिथि के बाद भी आवंटित सीटें रिक्त रह गई तो पुनः अवसर देते हुए दूसरे चरण की काउंसलिंग दो जुलाई से शुरू की जाएगी। काउंसलिंग का द्वितीय चरण दो जुलाई को शुरू होकर छह जुलाई तक जारी रहेगा, जिसके बाद दस्तावेज परीक्षण व अन्य औपचारिकताएं पूरी कर एडमिशन प्राप्त करने के लिए चयनित छात्र-छात्राओं की दूसरी लिस्ट के अनुसार अवसर दिया जाएगा। कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि ज्यादा से ज्यादा प्रवेश हो और यहां दाखिले के लिए आने वाले विद्यार्थियों की सुविधा के लिए लगातार प्रक्रिया जारी रखी जाएगी, इसलिए छुट्टियों के दिन भी एडमिशन करने कॉलेज के पट खुले रहेंगे।

सीएसई व सिविल में सबसे ज्यादा रुचि

पिछले तीन साल से प्रथम चरण में इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में ही सबसे कम विद्यार्थी आ रहे। वर्ष 2016 में ईईई की 60 सीट के विपरीत पहले चरण में मात्र आठ कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में 22, मैकेनिकल में 29 तथा सबसे ज्यादा सिविल में 63 सीट आवंटित हुए थे। इसके मुकाबले वर्ष 2017 में 39 सीट समेत 48 फीसदी कम विद्यार्थियों को सीटें अलॉटमेंट की गई। तब सबसे ज्यादा 12 सीट सिविल के भरे गए हैं। सीएस में चार जबकि ईईई व मैकेनिकल में सबसे कम तीन-तीन सीट भरे गए थे। पिछले साल पहली काउंसलिंग के बाद आवंटित 39 सीट में भी सीएसई व सिविल में सबसे ज्यादा प्रवेश हुए।

ब्रांचसीटअलॉट

सिविल60-10

मैकेनिकल60-05

सीएसई60-11

ईईई60-02

कुल240-28

Posted By: Nai Dunia News Network