कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन सख्ती दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। बाजार में आवश्यक सामान खरीदी का समय सुबह 10 से दोपहर एक बजे कर दिया है। टाइम कम किए जाने से बाजार में भीड़ बढ़ रही है। इस दौरान खरीदी के लिए दुकान में दूरी बनाकर खरीदारी करना अनिवार्य कर दिया गया। कोसाबाड़ी, बुधवारी, निहारिका में नियम के तहत दुकानों में नियम का पालन नहीं किया गया था। चूने से दूरी रेखांकन नहीं करने वाले दुकानदारों का दुकान बंद करा दिया गया वहीं नियम तोड़ने वाले खरीदारों पर कोसाबाड़ी बुधवारी में पुलिस की कार्रवाई जारी रही। दोपहर एक बजते ही सड़कों के चौक-चौराहों पर बैरिकेड्स लगाकर आवागमन लॉकडाउन कर दिया गया।

कोरोना संकट की घड़ी में जरूरी सामानों की खरीदी के लिए बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। दो दिन पहले सयम सुबह 10 से शाम पांच बजे खरीदी की छूट थी। लंबी छूट होने के बावजूद लोग बेवजह बाहर निकल रहे थे, जिससे अब खरीदारी तीन घंटे कर दी गई है। खरीदारी समय सीमिति किए जाने से भीड़ की स्थिति निर्मित हो रही है। खरीदारी के समय निमय का पालन नहीं हो रहा है। जारी निर्देश के अनुसार आवश्यक सेवा जैसे मेडिकल स्टोर्स, किराना दुकान, मोबाइल, सब्जी मार्केट खुुला रखा जाना है। दुकानों में लेन-देन के लिए सुबह 10 से दोपहर एक बजे का समय निर्धारित किया गया है। दोपहर एक बजे चौक-चौराहों के बैरिकेड्स लॉक कर दिए गए। निर्धारित समय के बाद सड़क पर आवागमन करने वालों से कड़ी पूछताछ की गई। मुकम्मल जवाब नहीं देने वाले राहगीरों पर कार्रवाई की गई। इस कड़ी में लोगों को थाने में बैठा दिया गया। शहर में एक ओर जहां व्यवसायियों में दुकान खोलने की होड़ दिखी, वहीं दूसरी ओर कई व्यवसायियों ने दूसरे दिन भी स्वस्पᆬूर्त दुकानें बंद रखी। दुकानों के सामने 14 अप्रैल तक बंद लिखकर चस्पा कर दिया गया है। कर्फ्यू बढ़ाने की सूचना के बाद भले ही कई व्यवसायी सहयोग दे रहे हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी व्यापारी हैं जो दुकान तो बंद किए हैं, किंतु पिछली खिड़की से सामान उपलब्ध कराकर लोगों को बाहर निकलने पर मजबूर कर रहे हैं। ऐसे में पुलिस कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ रही हैं। सुबह से शाम तक सूचनार्थ अनाउंसमेंट के बाद निमय की अनदेखी की जारी है।

-अनावश्यक घूमने वालों ने बढ़ाई मुश्किलें

पᆬोटो नंबर-26केओ23- कोरबा। बैरिकेड लगे होने के बाद बाइक चालकों को वापस भेजते यातायात कर्मी।

अनावश्यक बाहर निकलने वालों के कारण जरूरी खरीदारी के लिए बाहर निकलने वालों की परेशानी बढ़ गई है। बेवजह निकलने वालों पर पुलिस की सख्ती अब भी जारी है लेकिन चौक-चौराहों में पुलिस को देखकर शहर के बायपास मार्गों से पᆬर्राटे बाइक भगाते हुए सड़कों में भीड़ बढ़ा रहे हैं। लोगों की असामान्य भीड़ को देखते हुए स्थानीय पुलिस को दखल देना पड़ा रहा है। प्रशासन ने स्पष्ट हिदायत दी है कि लॉकडाउन से ही कोरोना के असर को समाप्त किया जा सकता है। इसके बाद कई युवा माहौल देखने के नाम पर बाहर निकलने की नामसमझी कर रहे हैं।

-कॉलोनियों मे लॉकडाउन की अनेदखी

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए गांव शहर से लेकर मोहल्लों में भी लॉकडाउन कर दिया गया है। इसके बावजूद शहर की कई बस्तियों में नियम की अनदेखी जा रही है। जैसे ही पांच बजता है मोहल्ले और पास पड़ोस में लोगों की खासकर महिलाओं की चहल-पहल शुरू हो जाती है। आश्चर्य की बात तो यह है कि नियम की अवहेलना झुग्गी-बस्तियों में ही नहीं, बल्कि हाई सोसाइटी बसाहट वाली कॉलोनियों में भी हो रही है।

-सीमित मेडिकल में मिल रहे मास्क

शहर के दुकानों में मास्क और सैनिटाइजर को अधिक दामों में बेचे जाने की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की ओर से मेडिकल संस्थानों को मास्क उपलब्ध कराया है। शहर के गिने चुने मेडिकल स्टोर्स में बिक्री हो रही है। वहीं पुलिस प्रशासन की ओर को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की चेतावनी दी गई। रामपुर पुलिस सहायता केंद्र के सामने वाहन चालक और राहगीरों को समझाइस देकर बताया गया कि वे अनिवार्य कार्य से बाहर निकलने के पहले मास्क का उपयोग अवश्य करें। मास्क के अलावा वैकल्पिक तौर गमछा लगाने की सलाह दी गई।

-सोशल मीडिया में अपुष्ट जानकारी

एक ओर लोग कोरोना संकट से सहमे हुए हुए है, वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया में भ्रामक जानकारी और अपुष्ट खबरें वायरल हो रही है। प्रशासन की ओर से मामले में तल्खी से सज्ञान लेने से कोताही बरती जा रही है। शहर में मरीजों के जिस तरह से आंकड़े डाले जा रहे हैं, उससे लोगों में भ्रम की स्थिति निर्मित हो रही है। आइसोलेशन और उपचार के बारे में तरह तरह की एडवाइजरी पोस्ट की जा रही है। टिक-टॉक का आश्रय लेकर जिस तरह अपᆬवाह की स्थिति निर्मित हो रही है, उससे लोगों में कोरोना के प्रति भय का वातावरण निर्मित हो रहा है।

-बुधवारी मंडी में नियम की अवहेलना

पᆬोटो नंबर-26केओ24- कोरबा। सब्जी मंडी में लगी भीड़।

शहर के बुधवारी सब्जी मंडी में सुबह से ही लोगों की भीड़ रही। बाजार में थोक खरीदी के लिए सब्जी व्यापारी के लिए मंडी संचालकों की ओर से दूर में रहकर खरीदी करने का नियम नहीं बनाया गया था। लोग मास्क नहीं पहने थे। पुलिस को जैसे ही जानकारी मिली लोगों को दूरी क्रम में खड़े होकर सामान खरीदी के लिए कहा गया। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों बुधवारी में साप्ताहिक बाजार नहीं लगने के कारण मंडी में बिक्री के लिए आई सब्जियों की दूसरे दिन भी बोली लगती रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket