कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महाभियान के तहत एक ही दिन में 1.05 लाख लोगों को टीका लगने के बाद भी जिले में 1.38 लोग कोविड टीकाकरण से दूर हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग ने 9.04 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्‌य है इनमे अब तक 7.66 लाख लोगों को टीका लग चुका है। टीका लगवा चुके लोगों में चार लाख 120 ऐसे लोग हैं जिन्हे दोनो डोज लग चुका है। जिले में अभी भी 14 मरीज सक्रिय हैं, इनमे कोरबा में आठ, कटघोरा में पांच और पाली एक मरीज शेष हैं। पूर्ण टीकाकरण के लिए अभियान जारी रखा जाएगा।

कोविड टीकाकरण महाभियान का जिले के टीकाकरण में बेहतर असर हुआ है लेकिन खेतों में धान कटाई का काम जारी रहने के कारण लोग टीकाकरण से लोग अब भी दूर हैं। टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से अभियान को जारी रखा गया है। जिले के 14 संक्रमितों में से चार मरीज इएसआईसी अस्पताल में दाखिल हैं। शेष 11 मरीज होमाइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। कोरोना के शुरुआती दौर से लेकर अब तक जिले में 54898 लोग संक्रमण के चपेट में आ चुके हैं, इनमे 53532 स्वस्थ्य हो चुके हैं। संक्रमण से अब तक 884 लोगों की मौत हो चुकी है। टीकाकरण अभियान में आई गति से मौत सिलसिला भी भी लगभग थम चुका है। गंभीर मरीजों की संख्या में भी कमी आ गई है। जिले के पांचों ब्लाक में से सबसे अधिक संवेदनशील कटघोरा मरीजों की संख्या में कमी आना स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी उपलब्धि है। जिले के अन्य ब्लाक में भी संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी हो रही है। अनुमान लगाया जा रहा है कि तीन दिन पहले हुई टीकाकरण महाभियान का आगामी दिनों में जिले के संक्रमण मुक्ति के रूप में देखने को मिलेगा। जिले में 500 से भी अधिक केंद्रों बनाकर किए गए टीकाकरण के दौरान एक ही दिन में एक लाख पांच हजार लोगों ने टीका लगवाया था, जो कि जिले में एक रिकार्ड है। टीकाकरण अभियान के नोडल अधिकारी डा पुष्पेश की माने तो अभी भी जिले में प्रतिदिन 300 लोगों की कोरोना जांच हो रही है। संक्रमित पाए जाने वाले मरीजों का यथोचित उपचार जारी है।

सावधानी के प्रति बरती जा रही लापरवाही

संक्रमण में कमी आने के बाद लोग सावधानी के प्रति लापरवाही बरतने लगे हैं। अधिकांश लोग बिना मास्क के बाहर निकलने लगे हैं। सावधानी के प्रति लापरवाही अब भी खतरे को आमंत्रण दे रहा है। ठंड का असर बढ़ने से सर्दी जुकाम की शिकायत भी बढ़ने लगी है। कोरोना अस्पताल के नोडल अधिकारी डा एलएस ध्रुव का कहना है कि खतरा अभी भी नही टला है। गर्मी के बजाय ठंड मौसम में संक्रमण तेजी से फैलता है इसलिए सावधानी बहुत जरूरी है। संक्रमण में आई कमी के बावजूद सुरक्षा नियमों का पालन करना आवश्यक है।

1.24 लाख डोज वैक्सीन अब भी उपलब्ध

जिला स्वास्थ्य विभाग में 1.24 लाख वैक्सीन उपलब्ध हैं। केंद्रों में टीका उपलब्ध होने के बावजूद लोग नहीं आ रहे। स्वास्थ्य विभाग की माने तो जिले के शहरी क्षेत्र में 10 फीसद लोग टीका से वंचित हैं जबकि ग्रामीण में 20 फीसद लोगों ने टीका नहीं लगवाया है। टीकाकरण अभियान के नोडल अधिकारी डा पुष्पेश का कहना है कि इन दिनो ग्रामीण क्षेत्रों में धान कटाई का काम चल रहा है। सुबह से अधिकांश लोग खेतों में काम करने चले जाते हैं। वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों को सतत प्रेरित किया रहा।

करतला व पोड़ी उपरोड़ा संक्रमण मुक्त

जिले के पांच विकासखंडों में करतला और पोड़ी उपरोड़ा कोरोना मुक्त हो चुके हैं। इसके पहले पाली भी संक्रमण मुक्त हो चुका था लेकिन कोविड नियम का पालन नहीं करने से यहां फिर से एक संक्रमित मिला है। पोड़ी उपरोड़ा और करतला पहले भी संक्रमण मुक्त हुए थे लेकिन निकटवर्ती विकासखंडों में संक्रमण के अधिक मामले होने के फिर लोग यहां फिर से संक्रमित हो गए। कोरबा और कटघोरा में शुरूवाती दौर से अधिक संक्रमित मिलते रहे हैं। पहली बार दोनो विकासखंड में कोरोना के मरीज इकाई संख्या में है।

फैक्ट फाइल

9.04- लाख लोगों को टीकाकरण का लक्ष्‌य

1.05- लाख लोगों को टीकाकरण महाभियान में लगा टीका

7.66- लोग अब तक आ चुके हैं टीकाकरण के दायरे में

88- संचालित टीकाकरण केंद्र

14- कोरोना के सक्रिय मरीज

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local