दर्री। नईदुनिया न्यूज

जनपद पंचायत कटघोरा के ग्राम डिंडोलभाठा में लाखों की लागत से खनिज न्याय मद से प्राथमिक शाला भवन का निर्माण किया गया है। इसके बाद भी स्कूल का बाउंड्रीवाल नहीं बनाया गया है।

स्कूल भवन परिसर में बाउंड्री निर्माण की मांग पिछले दशकों से की जा रही है, लेकिन शिक्षा विभाग का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है। ऐसे में प्रतिदिन आवारा मवेशी परिसर को गंदा कर रहे हैं। दूसरी ओर असामाजिक तत्व शाम ढलते ही डेरा जमा लेते हैं। पढ़ाई के दौरान मवेशी स्कूल परिसर में प्रवेश करते हैं, जिससे छात्र-छात्राओं की शिक्षा प्रभावित हो रही है। बरसात में परेशानी और भी बढ़ जाती है। एक वर्ष पूर्व निर्मित भवन से बारिश का पानी टपकने लगा है। दीवारों से पानी रिसकर कमरों में भर जाता है, जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। तीन कमरे में बच्चों को बिठाया जाता है। बाउंड्रीवाल नहीं होने के कारण छात्र असुरक्षित महसूस करते हैं। स्कूल शिक्षा प्रणाली में सुधार लाने के लिए केंद्र से लेकर राज्य की सरकारें एड़ी चोटी को जोर लगा रही हैं। इसके बावजूद सरकारी स्कूलों की स्थिति दयनीय है। हालात यह है कि बुनियादी सुविधाएं तक स्कूलों में नहीं हैं। दर्री क्षेत्र के कई स्कूल भवन में इस तरह की स्थिति बनी हुई है। बिना बाउंड्रीवाल व गंदगी के बीच विद्यार्थी स्वच्छता का पाठ पढ़ रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket