कोरबा(पसान)। जंगल से संग्रहित कर घर में रखे महुआ को खाने के लिए हाथी रात के समय बस्ती के घरों में धावा बोल रहे हैं। शुक्रवार की दरमियानी रात एक हाथी ने तनेरा निवासी एक आदिवासी ग्रामीण के घर तोड़ फोड़कर तहस नहस कर दिया। तोड़ फोड़ की आवाज सुनकर परिवार के लोगों ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई।

पसान रेंज में विचरण कर रहे 35 हाथियों को झुंड अब दो दलों में बंट गया है। इनमें 13 हाथी केंदई रेंज में पहुंच गए हैं। 22 हाथी अब भी पसान में रेंज के गांवों में विचरण कर रहे हैं। चारा और पानी की तलाश में हाथियों का यह दल गांव के निकटवर्ती जंगलों में मंडराने लगे हैं।

शुक्रवार की दरमियानी रात पसान रेंज के ग्राम पंचायत जलके तनेरा निवासी अभेर सिंह पिता मुंशीराम गोंड़ के आवास को ध्वस्त कर दिया। मुंशी राम अपने परिवार के साथ रात में सो रहा था। इस दौरान दल से बिछड़े एक मात्र हाथी उसके घर के आंगन में रखे महुआ को खाने के लिए घुसने की राह ढुंढने लगा इस दौरान उसे राह नहीं सूझी तब उसने मकान को तोड़ना शुरू कर दिया।

आवास टूटने की आहट पाते ही घर के लोग जाग गए और बाड़ी कें मार्ग से बाहर निकल कर अपनी जान बचाई। ग्रामीण ने बताया कि एक मात्र हाथी होने से उसके परिवार की जान बच गई। दल में हाथी होने परिवार को बचाना मुश्किल था। ग्रामीण ने बताया कि मकान को तोड़ने के साथ घर में रखे अनाज और वनोपज को हाथी ने नुकसान पहुंचाया है।

वन अमले ने प्रभावित ग्रामीण के आवास का जायजा लेकर क्षतिपूर्ति राशि दिलाने का आश्वासन दिया है। इस संबंध में वन परिक्षेत्राधिकारी एसएस तिवारी से संपर्क करने पर उन्होने बताया कि हाथियों के दल पर सतत निगरानी रखी जा रही है। प्रभावित ग्रामीण को क्षति पूर्ति विभाग से दिलाई जाएगी। हाथी प्रभावितों सामुदायिक भवनों अथवा पंचायतों में ठहराने की सुविधा की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags