कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अंग्रेजी मीडियम के सरकारी स्कूल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) की संबद्धता से अब भी दूर हैं। पहली से 12वीं तक सीबीएसई प्रणाली से शिक्षा प्रदान किए जाने की बात कहते हुए पिछले साल इन्हें शुरू किया गया। वर्तमान में सभी पांच स्कूलों को मिलाकर दूसरी से 11वीं तक 1836 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। पहली में प्रवेश प्रक्रिया जारी है। इसके बाद भी केंद्रीय बोर्ड की मान्यता नहीं होना पालकों को परेशान कर रहा। शिक्षा विभाग का कहना है कि प्रत्येक स्कूल को संस्था स्तर पर आवेदन देना था, जो आनलाइन प्रस्तुत कर दिया गया है। प्रक्रिया जारी है और जल्द पूर्ण हो जाएगी।

राज्य शासन से संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के जिले के पांच अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में प्रवेश के लिए होड़ मची हुई है। ज्यादातर पालक व बच्चों को सीबीएसई प्रणाली से शिक्षा मिलने की बात यहां एडमिशन को आकर्षित कर रही। पर अभी तक मान्यता नहीं मिल पाने से केंद्रीय बोर्ड की शिक्षा की चाह को लेकर बन रही आशंका उन्हें परेशान कर रही। इन स्कूलों के लिए वर्तमान में कक्षा पहली से 12वीं तक की कक्षाओं में प्रवेश की प्रक्रिया जारी है। पहली से लेकर 12वीं तक प्रत्येक कक्षा के लिए हर स्कूल में 40 सीट निर्धारित है। कोरबा शहर से लेकर बालको, जमनीपाली, कुसमुंडा व गेवरा-दीपका समेत अन्य क्षेत्र में संचालित बड़े बैनर के निजी स्कूलों हर साल सीट की मारा-मारी की स्थिति देखने को मिलती है। भारी-भरकम फीस होने के बाद भी लोग अपने बच्चों को यहां प्रवेश दिलाने मशक्कत करते दिखाई देते हैं। यह सब केवल इसलिए, क्योंकि वर्तमान में सभी केंद्रीय बोर्ड की बेहतर शिक्षा अपने बच्चों को देना चाहते हैं। वही शिक्षा आत्मानंद स्कूलों में उपलब्ध होगी, जिसमें पालकों के लिए कमरतोड़ती महंगाई में महंगी फीस नहीं देना होगा। बावजूद इसके केंद्रीय बोर्ड की मान्यता को लेकर शासन का रवैया उदासीन दिख रहा है।

पहली में 240 सीट, दोगुने से ज्यादा आवेदन

स्वामी आत्मानंद स्कूलों की प्रत्येक शाखा में उपलब्ध सीटों के विपरीत आवेदनों की संख्या कहीं अधिक है।बच्चों को प्रवेश दिलाने के लिए लोगों में होड़ मची हुई है। जिले के पांच स्कूलों की पहली कक्षा में कुल 240 सीट उपलब्ध हैं, जिनके विपरीत अब तक करीब 600 से अधिक आवेदन शिक्षा विभाग को प्राप्त हुए हैं। आवेदन प्रस्तुत करने की तिथि भी समाप्त हो चुकी है। इस तरह देखा जा सकता है कि इन स्कूलों में पहली की प्रत्येक सीट पर दोगुने से अधिक बच्चों के बीच स्पर्धा की स्थिति बनती दिखाई दे रही है। ऐसे में कई कक्षाओं के लिए लाटरी प्रणाली अपनानी होगी।

आर्थिक रूप से कमजोर समूह को प्राथमिकता

जिला शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार पांडेय का कहना है कि विशेष रूप से आर्थिक तौर पर कमजोर परिवार के बच्चों को प्राथमिकता इन स्कूलों में देने का उद्देश्य शासन ने रखा है। ऐसा इसलिए ताकि वास्तव में जरूरतमंद वर्ग को योजना का समुचित लाभ मिल सजे और वे बच्चे भी महंगे स्कूलों की तर्ज पर उत्कृष्ट शिक्षा प्राप्त कर सकें। इस दिशा में कार्रवाई शुरू करते हुए सीबीएसई की मान्यता के लिए आनलाइन आवेदन प्रस्तुत कर दिया गया है। जल्द ही मान्यता की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी। शासकीय संस्था होने से इस विषय में किसी भी प्रकार की परेशानी की कोई बात नहीं है।

इस बार 12 वीं में नहीं मिले पर्याप्त आवेदन

प्रवेश के लिए जारी गाइडलाइन में प्रारंभिक कक्षा के लिए पहली, छठवीं व नवमीं में प्रवेश के लिए अलग-अलग दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, जिनके अनुसार ही प्रवेश की सभी कार्रवाई पूर्ण की जा रही। किसी भी कक्षा में प्रवेश प्राप्त करने के लिए पालक और विद्यार्थियों के आवेदन आनलाइन लिए गए हैं। पहली में प्रवेश के लिए विद्यार्थी की आयु 31 मई 2021 की स्थिति में 5.5 वर्ष से 6.5 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। विभाग का कहना है कि इस वर्ष भी कक्षा 12वीं के लिए किसी भी स्कूल में पर्याप्त आवेदन प्राप्त नहीं हुए हैं। ऐसे में इस वर्ष भी यह कक्षा शुरू करना मुश्किल दिख रहा।

फैक्ट फाइल

कक्षा दूसरी से 11वीं तक दर्ज संख्या

करतला- 174

पोड़ी-उपरोड़ा- 80

पाली- 549

हरदीबाजार- 508

पंपहाउस कोरबा- 525

कुल विद्यार्थी- 1836

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल की मान्यता के लिए प्रत्येक स्कूल को संस्था स्तर पर प्रक्रिया पूर्ण करना है। कोरोनाकाल के चलते सभी को आनलाइन आवेदन मंगाए गए थे, जो भेज दिए गए हैं। शासकीय शिक्षण संस्थाएं होने से इसमें किसी प्रकार की अड़चन आने या प्रक्रिया बाधित होने जैसी कोई बात नहीं। जल्द ही मान्यता मिल जाएगी और इस बात में संशय कोई स्थिति भी नहीं है।

- सतीश पांडेय, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags