कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए रेलवे ने नियम सख्त किए हैं। इसी कड़ी में रेलवे बोर्ड द्वारा कोविड-19 महामारी की रोकथाम के मद्देनजर ट्रेनों, स्टेशनों एवं रेल परिसरों में मास्क नही पहनने वालों पर जूर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है। इसके तहत तत्काल प्रभाव से आगामी छह महीने तक किसी भी यात्री को स्टेशन में प्रवेश करने या ट्रेनों में यात्रा करते समय मास्क नहीं पहनने पर रेलवे अधिनियम के अनुसार 500 रुपये जूर्माने की राशि वसूल किया जाएगा। रेलवे प्रशासन ने यात्रियों को नियमों का कड़ाई से पालन करने का आग्रह किया है, ताकि संक्रमण की चेन तोड़ने सभी का सहयोग सुनिश्चित किया जा सके।

कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए भारतीय रेलवे की ओर से अनेक कदम उठाए गए हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से समय-समय पर जारी गाइड लाइन के पालन के लिए महत्वपूर्ण स्टेशनों में थर्मल जांच, सोशल डिस्टेंसिंग आदि की सुनिश्चता के साथ-साथ स्टेशनों, रेल परिसरों में कोविड के खिलाफ जागरूकता अभियान भी लगातार चलाये जा रहे है। इसी कड़ी में रेलवे की ओर से कोविड-19 महामारी की रोकथाम के मद्देनजर ट्रेनों, स्टेशनों एवं रेल परिसरों में मास्क नही पहनने वालों पर जुर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है। इसके तहत तत्काल प्रभाव से आगामी छह महीने तक किसी भी यात्री को स्टेशन या ट्रेनों में प्रवेश व यात्रा करते समय मास्क नहीं पहनने व रेलवे से चिन्हित किए गए जगह को छोड़कर अन्य स्थानों में थूकने पर रेलवे अधिनियम के अनुसार 500 रुपये जुर्माने की राशि वसूल की जाएगी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए रेल प्रशासन अलर्ट पर है। लाकडाउन का पालन करने के साथ ही मास्क की अनिवार्यता व शारीरिक दूरी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस बीच रेलवे स्टेशन में भी जरुरी सतर्कता बरती जा रही है। प्रशासन के आदेश पर स्टेशन परिसर में बेरीकेटिंग की व्यवस्था की जा रही है। यात्रियों से कहा जा रहा है,कि नियमों का विशेष रुप से ध्यान रखें।

अस्वस्थ महसूस हो तो न करें ट्रेन की यात्रा

यात्रा के दौरान अस्वस्थ व्यक्ति अपने साथ ट्रेन में यात्रा कर रहे अन्य यात्रियों को भी संक्रमित या बीमार कर सकता है। खासकर कोरोनाकाल में तबियत ठीक न हो तो ऐसे लोगों को यात्रा टाल कर अपने घर या अस्पताल में ही होना चाहिए। रेल प्रशासन ने किसी भी प्रकार की शारीरिक अस्वस्थता की स्थिति में यात्रा टालकर खुद व दूसरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया है। रेलवे प्रशासन की ओर से यात्रियों से अनुरोध किया गया है कि कोविड के संक्रमण को रोकने हेतु नियमों का कड़ाई से पालन करें एवं किसी भी प्रकार की शारीरिक अस्वस्थता की स्थिति में यात्रा टालकर खुद सुरक्षित रहें एवं अपने व अपने परिवार के साथ अन्य यात्रियों की सुरक्षा रखने में मदद करें।

आने वाले यात्रियों की प्लेटफार्म में कोविड जांच

18र्-1ि0-18042021-569- कोरबा। प्लेटफार्म नंबर-एक पर खड़ी मेमू लोकल।

स्वास्थ्य विभाग से जारी गाइड लाइन के पालन के लिए रेलवे स्टेशन में थर्मल जांच, शारीरिक दूरी के नियमों का पालन सुनिश्चित करने की कवायद जारी है। स्वास्थ्यकर्मी भी स्टेशन जाकर आने वाली ट्रेनों के यात्रियों की कोविड जांच कर रहे हैं और ऐसे में मास्क व अन्य नियमों का पालन जरूरी हो जाता है। इनमें सुबह लिंक एक्सप्रेस, कोरबा-अमृतसर विशेष ट्रेन समेत अन्य गाड़ियों में सफर कर कोरबा आने वाले लोगों को विशेष तौर पर जांच के लिए केंद्रित किया जा रहा। आरपीएफ को भी स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि नियमों का उल्लंघन करने वाले यात्रियों पर सख्ती से पेश आएं।

थर्मल स्केनिंग के साथ संदिग्ध पर टीटीई की नजर

कोरोना की दूसरी लहर ने जिस तरह से तांडव मचाया है, उससे सभी सहमे हुए हैं। प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। यात्रियों से कहा जा रहा कि वे ट्रेन आने से एक घंटे पूर्व ही स्टेशन पहुंचे, बेवजह भीड़ बढ़ाने से बचें। आरपीएफ की निगरानी में कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए रेलवे स्टेशन के गेट पर खड़े टीटीई हर आने-जाने वाले यात्री को थर्मल स्केन थर्मामीटर से तापमान की जांच कर रहे। निर्धारित से अधिक ताप या बुखार व अन्य लक्षण मिलने पर संदिग्ध मानते हुए स्वास्थ्य विभाग को मैसेज किया जाता है, जिसके बाद उनका कोविड टेस्ट किया जा रहा है।

-------------------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags