कोरबा। नईदुनिया न्यूज

उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाए, का संदेश देने वाले युवाओं के प्रेरणास्त्रोत, समाज सुधारक युवा युग-पुरुष स्वामी विवेकानंद का जन्म कोलकाता में हुआ। इनके जन्मदिन को ही राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी कड़ी में दीपका स्थित इंडस पब्लिक स्कूल में विश्व युवा दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।

इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद के जीवन मूल्यों, उनके आदर्शों और सिद्धांतों को ध्यान में रखते हुए चित्रकला, पोस्टर, रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। विद्यालय में छात्रों एवं शिक्षक-शिक्षिकाओं को उनके कार्यों एवं राष्ट्र निर्माण में युवाओं को जागरूक बनाने हेतु सम्मानित किया गया। विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक संजीव कुमार ने कहा कि किसी भी देश के युवा उसका भविष्य होते हैं। उन्हीं के हाथों में देश की उन्नति की बागडोर होती है। प्राचार्य डॉ. संजय गुप्ता ने कहा कि युवा राष्ट्र का भविष्य हैं। देश का पूरा भविष्य युवा के कंधों पर है। युवा शक्ति ही देश को एक नई दिशा व सही न्यायोचित मार्ग पर ला सकती है। देश की सुरक्षा, भविष्य व पूरी प्रणाली युवा के हाथों में होती है। यदि युवा समर्थ है, देश समर्थ है, युवा स्वस्थ है तो देश स्वस्थ है। युवा कर्मठ है तो राष्ट्र का विकास सकारात्मक पहलुओं पर अवश्य होगा, यही चाहते थे स्वामी विवेकानंद और इसी उद्देश्य से उन्होंने विश्व का भ्रमण कर युवाओं को उनकी ताकत से पहचान कर एकता के सूत्र में बांधने में प्रयासरत रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket