कोरबा (नईदुनिया न्यूज)। सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम के तहत नगर निगम क्षेत्र के घुड़देवा में आयोजित शिविर में चार हजार 684 लोग राशन, पेंशन, छात्रवृत्ति, सामाजिक सुरक्षा लाभांश, राजस्व प्रकरणों, फौती, नामांतरण आदि सुविधाओं से लाभांवित हुए। इस मौक पर महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि कहा कि राज्य शासन के मंशा के अनुरूप क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व सभी विभागों के अधिकारी कर्मचारियों के संयुक्त परिश्रम से समाधान शिविरों को सफलता मिली हैं तथा नागरिकों के घर पहुंचकर तथा उनकी समस्याओं से संबंधित आवेदन लेकर समस्याओं का समाधान किया गया।

छत्तीसगढ़ शासन के सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम के तहत नगर निगम क्षेत्र में जिला प्रशासन एवं नगर निगम कोरबा द्वारा चार समाधान शिविरों का आयोजन किया गया। बुधवार को निगम के सर्वमंगला व बांकीमोंगरा जोन के वार्ड क्रमांक 54 व 56 से 67 तक के लिए घुड़देवा अशासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में समाधान शिविर आयोजित किया गया। शिविर में भारी संख्या में पहुंचे संबंधित वार्डो के नागरिकों को उनके द्वारा प्रस्तुत आवेदनों के संतुष्टिपूर्ण निराकरण की कार्रवाई की जानकारी प्रदान की गई।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महापौर राजकिशोर प्रसाद ने विद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया को सरल बनाने, राजस्व संबंधी प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने, बिजली बिल व बिजली से संबंधित समस्याओं का संतुष्टिपूर्ण निराकरण कराने, राजीव आश्रय पट्टा वितरण कार्यो में गति लाने, बिना किसी अवरोध के विद्युत आपूर्ति किए जाने सहित अन्य विभिन्ना विषयों व विभागों से संबंधित कार्यो में अधिकारियों का मार्गदर्शन किया। इस मौके पर सभापति श्यामसुंदर सोनी ने कहा कि सरकार की गहरी संवेदनशीलता का परिचायक है, सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम।

जिसके परिणाम स्वरूप घर-घर पहुंचकर आमनागरिकों की समस्याओं का निराकरण हो रहा है। जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने भी विचार व्यक्त किया। आयुक्त प्रभाकर पांडेय ने शिविर में पहुंचे अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस दौरान मेयर इन काउंसिल सदस्य संतोष राठौर, अमरजीत सिंह, श्रुति कुलदीप, मस्तुल सिंह कंवर, रोपा तिर्की, पार्षद भानुमति जायसवाल, पदमा साहू, बसंत चंद्रा, अजय प्रसाद, शाहिद कुजूर आदि उपस्थित रहे।

घर पहुंचकर समस्याओं का निदान, शिविर का प्रमुख उद्देश्य

कलेक्टर रानू साहू ने इस मौके पर कहा कि प्रत्येक 15 दिन में शहरी क्षेत्र में एक शिविर एवं ग्रामीण क्षेत्र में दो शिविर सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम के तहत आयोजित किए जा रहे हैं। इन शिविरों का प्रमुख उद्देश्य है कि आमनागरिकों के घर गांव पहुंचकर उनकी समस्याओं को दूर किया जाए। उन्होने कहा कि जिला प्रशासन का पूरा प्रयास है कि आमजनता को अपने कार्यो के लिए कार्यालयों तक न जाने पड़े, घर पहुंचकर उनकी समस्याएं दूर की जाएं ताकि उनके समय, धन व श्रम की बचत हो तथा आवागमन की परेशानी से मुक्ति मिले। कलेक्टर साहू ने कहा कि लगाए जा रहे इन समाधान शिविरों के माध्यम से लोगों को वास्तविक लाभ पहुंचाया गया है, उनकी समस्याएं दूर की गई हैं।

हितग्राहियों को किया गया सामग्रियों का वितरण

शिविर के दौरान महापौर राजकिशोर प्रसाद व कलेक्टर रानू साहू ने हितग्राहियों को शासन की विभिन्ना योजनाओं के तहत सामग्रियों का वितरण किया। नगर निगम के 20 राशन कार्ड, समाज कल्याण विभाग से एक रालेटर, पांच एमआर किट, दो ट्रायसिकल, आठ श्रवण यंत्र, मछलीपालन विभाग से एक महाजाल, कृषि विभाग से 10 नग उड़द मिनी किट, दो विद्युत पंप चार एचपी, सहकारिता विभाग से किसान क्रेडिट कार्ड आदि हितग्राहियों को प्रदान किए गए।

चार समाधान शिविर में 16 हजार नागरिक लाभांवित

नगर निगम क्षेत्र के 67 वार्डों में चार समाधान शिविर का आयोजन किया गया। इन शिविरों में निगम क्षेत्र के 16000 से अधिक नागरिक लाभान्वित हुए। नगर निगम समेत जिले के विभिन्ना विभागों के अधिकारी कर्मचारियों ने डोर-टू-डोर भ्रमण कर आमजन की समस्याओं को जाना, उनसे आवेदन प्राप्त किया तथा समयसीमा में इन समस्याओं का निराकरण कराया गया। प्राप्त कुल आवेदनों में 95 फीसद आवेदनों का संतुष्टिपूर्ण निराकरण किया जा चुका है, वहीं शेष आवेदनों के निराकरण की कार्रवाई शीघ्र पूरी की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close