कोरबा। ठेकेदार रामबाबू शर्मा की चाकू गोदकर हत्या कर दिए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बंद कमरे में लाश मिली है। घटना के बाद घर से बोलेरो लेकर फरार हुआ आरोपित सरगांव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो घायल हो गया। अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया था। होश में आने के बाद उसने पुलिस के सामने अपराध कबूल कर लिया।

दादरखुर्द में स्थित परशुराम में निवासरत ठेकेदार रामबाबू शर्मा (60) की गुरुवार की रात को 10 बजे उनके मकान के बंद कमरे में मिली। बताया जा रहा है कि पंद्रह ब्लॉक निवासी एक व्यक्ति को पुलिस ने हिरासत में लिया है। वह रामबाबू के चालक का दोस्त है। 23 सितंबर को पेट में चाकू से वार कर रामबाबू को मौत के घाट उतारने के बाद बोलेरो लेकर भाग निकला था।

सूत्रों के अनुसार बिलासपुर-रायपुर मार्ग में सरगांव के पास बोलेरो दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बेहोश अवस्था में उसे नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। होश में आने पर पुलिस ने पूछताछ की तो उसने हत्या का अपराध कबूल कर लिया।

इसके बाद बिलासपुर पुलिस आरोपित को लेकर रात 10 बजे कोरबा पहुंची। उसकी निशानदेही पर घर पहुंचकर रामबाबू की लाश पुलिस ने बरामद किया। मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उदय किरण, सिटी कोतवाली टीआइ दुर्गेश शर्मा मौजूद रहे। घटनास्थल पर किसी को जाने नहीं दिया गया। दुस्साहसिक ढंग से कत्ल किए जाने का मामला सामने आने से लोग स्तब्ध रह गए।

पुलिस ने किया घटनास्थल को सील

रामबाबू दादरखुर्द में अकेले रहते थे। उनके दो भाई ठेकेदार आरके शर्मा व रविंद्र शर्मा रविशंकर शुक्ल नगर व राजेंद्र प्रसाद नगर में रहते हैं। पुत्र हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में निवासरत है। घटना के बाद मौके पर पूर्वांचल से जुड़े लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस ने घटनास्थल को सील कर दिया है। पंचनामा की कार्रवाई सुबह की जाएगी।