कोरबा Korba Coronavirus News । कोरोना टेस्ट के लिए के लिए अब सैंपल को रायपुर नहीं भेजना पड़ेगा। जिला अस्पताल के लैब ट्रू-नेट मशीन में पहली बार स्थानीय क्वारंटाइन सेंटर से लिए गए सैंपल की जांच रिपोर्ट जारी किया है। पांचों की रिपोर्ट नेगेटिव आए हैं। इसके पहले रायपुर से भेजे गए सैंपल की लैब में जांच हुई थी, जिसमें खरा उतरने पर स्थानीय स्तर पर अनुमति दी गई। शुक्रवार को 20 लोगों का सैंपल लिया गया है, जिनकी रिपोर्ट शनिवार को जारी होगी। प्रक्रिया में धीरे-धीरे तेजी आएगी। एक दिन में जिला अस्पताल से 30 लोगों की रिपोर्ट जारी की जाएगी।

कोरोना सैंपल की रिपोर्ट स्थानीय स्तर पर ही मिल सके, इसके लिए प्रशासन की ओर से पहल की जा रही थी। शासन ने इसके लिए मशीन पहले ही भेज दी थी। लैब की शुरुआत सैंपल परीक्षण में पास होने पर टिका था। जिला चिकित्सालय में यह सुविधा शुरू हो सके लिए इसके लिए लैब पैथोलॉजिस्ट डॉ. पुष्कर चौधरी को जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रशिक्षण के लिए रायपुर भेजा गया था।

डॉ. चौधरी जिले में कोरोना की शुरुआती दौर से मरीजों का सैंपल लेने और लैब का दायित्व संभाल रहे थे। अब उन्हें ट्रू-नेट कोरोना जांच जिला अस्पताल लैब का नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। उन्होंने ट्रू-नेट मशीन के बारे में बताया कि इसमें दो स्टेप में सैंपल की प्रकिया पूर्ण जांच की जाती है।

एक घंटे में अधिकतम चार सैंपल की जांच हो सकती है। लैब को बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए एक्सपर्ट लैब टेक्निशियन की जरूरत है। एक दिन में अधिक से अधिक बेहतर रिपोर्ट जारी कर सकें, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है।

-आइसीएमआर के मापदंड में होगी जांच

लैब के शुरुआत होने से जिलेवासियों को राहत है, लेकिन कोई भी व्यक्ति स्वेच्छा से टेस्ट नहीं करा सकेगा। इस मामले में डॉ. पुष्कर चौधरी का कहना है कि इंडियन काउंसिल ऑपᆬ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) के मापदंड के अनुसार ही किसी का टेस्ट किया जाएगा। जब तक कोई चिकित्सक लिखकर न दे तब तक टेस्ट नहीं किया जा सकता। प्राथमिकता के आधार पर क्वारंटाइन सेंटर से आने वाले सैंपल की ही जांच होगी।

-शीघ्र हो जाएंगे क्वारंटाइन सेंटर रिक्त

लैब शुरू हुई तो क्वारंटाइन सेंटर में मरीजों को 14 दिन से अधिक समय तक नहीं रुकना पड़ेगा। वर्तमान में क्वारंटाइन सेंटर में 344 ऐसे प्रवासी मजदूर हैं, जिनकों सेंटर में रहते हुए 14 दिन से अधिक समय हो गया है। बाहर से आने वाले मरीजों को होम क्वारंटाइन चुनने की अनुमति दे दी गई। इसके लिए उसे शपथ पत्र के साथ अलग से शौचालय-स्नानागार आदि की सुविधा को दर्शाना होगा अन्यथा सरकारी अथवा निजी क्वारंटाइन में ही जाना पड़ेगा।

- जिला चिकित्सालय में ट्रू-नेट मशीन के माध्यम से स्थानीय स्तर पर ही कोरोना का टेस्ट शुरू हो चुका है। शुक्रवार को पांच सैपल का रिपोर्ट जारी किया गया। आने वाले दिनों में सैंपल जांच में तेजी आएगी। - डॉ. पुष्कर चौधरी, नोडल अधिकारी, ट्रू-नेट कोरोना टेस्ट लैब, जिला अस्पताल

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan