कोरबा, नईदुनिया प्रतिनिधि। Korba News : प्राथमिक और मिडिल की तरह अब कक्षा नवमी से बारहवीं तक पढ़ने वाली छात्राओं को भी मध्यान्ह भोजन प्रतिदिन स्कूलों में दिया जाएगा। जिले के कटघोरा ब्लॉक के 37 हाई व हायर सेकेंडरी स्कूल में सोन चिरईया योनजा के तहत भोजन का आवंटन किया गया। योजना की शुरुआत में 4600 छात्राएं लाभान्वित होंगी।

बालिकाओं को पोषण आहार से जोड़ने के लिए सोन चिरईया योजना की शुरुआत विधिवत्‌ पहली जुलाई से प्रभारी मंत्री की उपस्थिति में किया जाना था, लेकिन किसी कारणवश नहीं हो सका। विधिवत उद्घाटन आगामी दिनों में किया जाएगा। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय स्याहीमुड़ी में आयोजित मध्यान्ह भोजन को शुरू कराने कई जनप्रतिनिधि पहुंचे थे। बहरहाल कार्य योजना को मूर्तरूप दिए जाने से वर्तमान में 4600 छात्राओं को इसका लाभ मिल रहा है।

आगामी दिनों में जिले के सभी ब्लॉक में शुरू किया जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी सतीश पांडेय ने योजना के बारे में बताया कि सोन चिरईया के तहत मध्यान्ह भोजन का उद्देश्य बालिकाओं को पोषण की दृष्टि से सशक्त करना है। पोषण आहार क्रियान्वन में उनके स्वास्थ्य, पोषण, स्वच्छता और व्यक्तित्व विकास बेहतर बनाना है।

बालिकाओं को माहवारी के कठिन दिनों में होने वाली असुविधा और उनसे सुरिक्षत कैसे रहा जाएगा, इसके लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा। पोषण आहार के तौर पर बालिकाओं को प्रतिदिन दाल सब्जी और अंडा दिया जाना अनिवार्य है। बालिकाओं को मध्यान्ह भोजन की सुविधा के चलते अब उन्हें टिफिन लेकर स्कूल नहीं आना पड़ेगा। प्रारंभ में ऐसे स्कूल को चुना गया है जहां भोजन पकाने के लिए रसोई व बैठकर भोजन के लिए अतिरिक्त कक्ष है।