कोरबा, नईदुनिया प्रतिनिधि। अनाचार पीड़िता एक किशोरी ने होटल के एक कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिता व पुत्री श्यांग क्षेत्र से बाल संरक्षण आयोग के समक्ष प्रस्तुत होने कोरबा आए थे। शाम हो जाने के कारण उन्हें घर जाने के लिए साधन नहीं मिला। पिता-पुत्री होटल में रुके थे। इस बीच सुबह जब पिता बाहर घूमने निकले, इस दौरान किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

श्यांग क्षेत्र में रहने वाले पिता-पुत्री शुक्रवार को कलेक्टोरेट में आयोजित बैठक में बाल संरक्षण आयोग के समक्ष प्रस्तुत होने कोरबा आए थे।

बताया जा रहा है कि दो माह पहले गांव के ही एक युवक से उसके प्रेम संबंध होने की जानकारी मिली थी, जिससे परिजनों ने उसे काफी डांट फटकार लगाई थी। डांट से नाराज होकर किशोरी बिलासपुर चली गई थी। बिलासपुर में उसकी मुलाकात एक ऑटो चालक यास खान से हुई।

किशोरी को देखकर ऑटो चालक ने उसे झांसे में लेकर अपने घर ले गया और उसके साथ अनाचार किया। इस हादसे के बाद किशोरी भयभीत हो गई और वापस श्यांग लौट आई। परिजनों ने घटना की शिकायत श्यांग थाना में दर्ज कराई थी।

पुलिस ने यास खान के खिलाफ दुष्कर्म का मामला पंजीबद्ध कर लिया था, लेकिन उसकी अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। बाल संरक्षण आयोग की बैठक में किशोरी को बुलाया गया था। देर शाम तक बैठक चली, जिसकी वजह से घर जाने के लिए उन्हें साधन नहीं मिल सका।

पिता-पुत्री ने शहर के ही सुनालिया होटल में कमरा लिया। शनिवार की सुबह 7.30 बजे उसके पिता की नींद खुली तो वे चाय पीने नीचे चले गए। इस दौरान किशोरी ने बाथरूम का दरवाजा बंद कर वहां लगे पाइप के सहारे ओढ़नी से फांसी लगा ली।

उसके पिता जब वापस लौटे तो पुत्री कमरे में नहीं मिली, तो बाथरूम का दरवाजा खटखटाया। अंदर से आवाज नहीं आने पर घबरा गए और होटल के कर्मचारियों को जानकारी दी। बाथरूम का दरवाजा तोड़ने पर किशोरी फांसी पर लटकी मिली।

सूचना मिलने पर सिटी कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और शव फंदे से नीचे उतारा। दुष्कर्म की घटना के बाद से किशोरी काफी व्यथित थी। बार-बार कोर्ट व थाना के चक्कर लगाने की बात वह अपने परिजनों से पूछती थी। माना जा रहा है कि इस घटना से व्यथित होकर उसने यह आत्मघाती कदम उठाया है। बहरहाल पुलिस मर्ग कायम कर मामले की विवेचना कर रही है।

पिता करता रहा दुष्कर्म, सौतेली मां चुप रही

करतला क्षेत्र में पिता-पुत्री के रिश्ते को दागदार कर देने वाला एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक अधेड़ पिता अपनी नाबालिग पुत्री का पिछले तीन वर्ष से दैहिक शोषण करता रहा। हैरत की बात तो यह है कि सौतेली मां सब कुछ जानते हुए भी मुंह बंद रखी। यही नहीं उसे यातनाएं भी देता रहा।

इससे तंग आकर पुत्री ने इसकी शिकायत करतला पुलिस से की। पुलिस ने आरोपित पिता के खिलाफ अनाचार व पाक्सो एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया है। घटना के बाद से आरोपित फरार है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है।

बताया जा रहा है कि किशोरी की मां का कुछ साल पहले देहांत हो गया, जिसके बाद उसके पिता ने दूसरी शादी की। घर में सौतेली मां के सामने यह सब होता रहा। किशोरी माता-पिता दोनों की यातनाएं झेल रही थी। जब पानी सिर से ऊपर हो गया तब उसने हिम्मत करके घटना की शिकायत पुलिस से की।

रायपुर के उरला में इस्पात फैक्ट्री के पैनल में धमाका, तीन मजदूर झुलसे

5 इनामी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण, कई बड़ी वारदात में थे शामिल