कोरबा। जिले के लेमरू वन प्रक्षेत्र के बारे में आए दिन खबरें सुनने को मिलती रहती हैं। बिलासपुर और सरगुजा संभाग के बीच विस्तृत इस विशाल वन परिक्षेत्र में बडे पैमाने पर जंगली हाथी स्वतंत्र विचरण करते हैं। दुर्गम रास्ते और पगडंडियां यहां से होकर गुजरती हैं, जिनपर आगे चलते हुए सुदूर इलाके में कुछ गांव बसे हुई हैं। इन आबाद बस्तियों तक पहुंचने के लिए कोई पक्की सडक नहीं है। बीच में पडने वाली नदी और नालों को पार कर यहां तक पहुंचना होता है।

इन गांवों में लोग बीमार न पडने की दुआ करते हैं, क्योंकि स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं हैं और अस्पताल तक पहुंचने के लिए कोई एंबुलेंस भी नहीं मिलती। यदि कोई बीमार हुआ तो उसे कांवर या खाट में लादकर पैदल ही लंबी दूरी तय करना पडता है। ऐसे हालात में यहां पुलिस के जवानों ने एक गर्भवती महिला को खाट पर लिटाकर नदी पार कराने के साथ किसी तरह उप स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। यहां गेट पर ही महिला का प्रसव हो गया। अभी जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

लेमरू पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले छाता बाहर की रहने वाली सुनीता बाई 20 वर्ष को प्रसव पीड़ा होने पर उसके परिजनों ने डायल 112 को सूचना दी। इवेंट मिलने पर क्यूआरवी टीम के साथ पुलिसकर्मी चंद्रप्रकाश और संदीप मौके के लिए रवाना हुए। पगडंडी होने की वजह से नदी से पहले गाड़ी रोकनी पड़ी।

यहां से दोनों पुलिसकर्मी पदयात्रा करते हुए गांव पहुंचे। महिला के परिजनों के साथ गर्भवती को पहले कांवर में बैठा घर से लेकर निकले, फिर रास्ते में खाट से उठा कर गाड़ी तक ले गए। किसी तरह परसाभाटा उप स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे ,जहां प्रवेश द्वार पर ही महिला को प्रसव हो गया। उसने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। इस कार्य को लेकर एएनएम महिला के परिजनों ने डायल 112 की टीम को धन्यवाद दिया है। पुलिस की यह सेवा पहुंचविहीन इलाकों के लिए वरदान बन चुकी है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना