कोरबा। Korba News: पारिवारिक और सामाजिक कार्यक्रमों में डीजे बजाने का चलन आम हो गया है। अक्सर देर रात तक चलने वाले शादी- ब्याह और जन्मदिन पार्टी सहित अन्य सामाजिक कार्यक्रमों के दौरान रात के वक्त तेज आवाज में डीजे और साउंड बॉक्स बजते रहते हैं, एेसे में बहुत से बीमार और बुजुर्ग लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने एक नया आदेश जारी करते हुए डीजे और साउंड बाक्स बजाने के लिए रात में अधिकतम समय निर्धारित कर दिया है। अब रात 10 बजे के बाद तेज आवाज में किसी भी प्रकार के संगीत वाद्य संत्र को बजाने की अनुमित नहीं होगी।

कोविड-19 गाईडलाईन का पालन करते हुए कोरबा जिला अंतर्गत सामाजिक कार्यक्रमों में डीजे साउण्ड बाॅक्स बजाने की अनुमति दी गई है। इसमें डी.जे. साउण्ड बाॅक्स बजाते समय केवल दो छोटे साउण्ड बाॅक्स का उपयोग किया जा सकेगा। किसी भी सार्वजनिक रोड पर नहीं बजाया जायेगा। केवल कार्यक्रम के नियत स्थान पर बजाने की अनुमति अधिकतम समय रात्रि दस बजे तक के लिए मान्य होगी।

किसी भी वाहन में साउण्ड बाॅक्स रखने की अनुमति नहीं होगी। दो छोटे साउण्ड बाॅक्स अस्थाई रूप से स्टैण्ड में रखकर बजाए जा सकेगें। जिस क्षेत्र में डी.जे. साउण्ड बाॅक्स बजाया जाना है, उसके पहले उस क्षेत्र के थाना प्रभारी को इसकी पूर्व सूचना देना होगा। साथ ही कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु जारी समस्त निर्देशों का पालन करना होगा। इन सब नियमों का पालन न करने पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। कलेक्टर किरण कौशल ने यह आदेश जारी करते हुए इसका कड़ाई से पालन कराए जाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस