कोरबा, नईदुनिया प्रतिनिधि। सबसे अलग, हैरतंगेज और वंडरफुल सेल्फी अगर एफबी या किसी अन्य सोशल मीडिया में पोस्ट कर दी जाए, तो लाइक्स की झड़ी लग जाती है। बस यही क्रेज और लाइक्स का रोमांच पाने आज की युवा पीढ़ी सेल्फी के लिए खुद की जिंदगी तक खतरे में डालने तैयार हो जाते हैं। बस यही चूक एक बार फिर दोहराई गई और सेल्फी के रोमांच ने एक मासूम छात्र की जिंदगी छीन ली।

खुद को खतरे में डालकर सेल्फी लेते दुर्घटना का शिकार हुए छात्र की यह घटना बाल्को पुलिस थाना क्षेत्र की है। बाल्कोनगर से सतरेंगा मार्ग पर जिले का पसंदीदा पिकनिक स्पॉट परसाखोला स्थित है। रविवार की छुट्टी का आनंद लेते हुए यहां स्कूल में पढ़ने वाले करीब आधा दर्जन छात्र-छात्राएं पिकनिक मनाने पहुंचे थे। इसी दौरान उनमें से एक छात्र सुभाष ब्लॉक निवासी अमन रोमांचक सेल्फी लेने की फिराक में वहां मौजूद नाले के करीब चला गया।

जलस्त्रोत से लगे होने के कारण इस जगह पर फिसलन थी, जिसमें अमन के पैर लड़खड़ा गए। इससे पहले कि वह संभलने की कोशिश करता, फिसल गया और गहरे पानी में जा गिरा। देखते ही देखते सबके सामने वह गहरे पानी में डूब गया और फिर बाहर न निकला। वहां मौजूद रहे आसपास के ग्रामीणों का भी यही कहना था कि यह दुखद घटना सेल्फी के चक्कर में हुई।

तैरना नहीं जानते थे, बेबस देखते रहे दोस्त

जिस ग्रुप के साथ अमन पिकनिक मनाने परसाखोला गया था, उनमें से कोई तैरना नहीं जानता था। परिणामस्वरूप उसके दोस्त भी बेबस होकर उसे डूबते देखते रहे। अपने सामने ही यह माजरा देखने को मजबूर दोस्त पानी की गहराई ज्यादा होने के कारण उसे बचाने की हिम्मत नहीं जुटा पाए और डूबने से उसकी मौत हो गई। अमन कोरबा का ही रहने वाला है और अपने दोस्तों के साथ सुबह-सुबह ही परसाखोला पहुंचा था।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोपहर दो बजे के आसपास अमन नाले के पास मौजूद एक फिसलन भरे पत्थर में खड़ा होकर सेल्फी ले रहा था। इसी दौरान उसका पैर फिसल गया। खतरनाक जगह पर खड़े होकर सेल्फी लेना अमन को काफी महंगा पड़ गया।

पानी के नीचे पत्थरों के बीच जा फंसा

मौके पर मौजूद रहे लोगों ने इस घटना की सूचना पहले 112 का, फिर बाल्को पुलिस को दी गई। पुलिस ने कुछ ग्रामीणों की मदद से अमन के शव को तीन घंटे कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला और फिर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।

संभावना जताई जा रही कि अमन जैसे ही गहरे पानी के नीचे गया, वह पत्थरों के बीच फंस गया होगा। यही वजह है कि उसके शव को ढूंढ़ने और फिर बाहर लाने में उन्हें तीन घंटे से ज्यादा लग गए। अमन के शव में कई जगह चोट के निशान भी मिले हैं, इसलिए यह संभावना भी व्यक्त की जा रही कि पत्थरों में फंसने की वजह से चोट लगी होगी। पुलिस ने पंचनामा तैयार कर मर्ग कायम कर लिया है। अमन के दोस्तों से भी हादसे के बारे में पूछताछ की जा रही।

Posted By: Nai Dunia News Network