कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। लेमरू के जंगल में दुर्लभ प्रजाति का मालाबार पिट वाइपर मिला है। छत्तीसगढ़ विज्ञान सभा, रेपटाइलकेयर-रेस्क्यूवर सोसाइटी व वन विभाग के वनरक्षक दल के संयुक्त सर्वेक्षण के दौरान यह सफलता मिली है। वन जैवविविधता से समृद्ध कोरबा के जंगल में समय-समय पर नई प्रजातियां मिलती रही है। इन पर खोज किए जाने की आवश्यकता है। वर्तमान में जिले में जैवविविधता पंजी का निर्माण का कार्य किया जा रहा है। केसला में बायो डायवर्सिटी पार्क का निर्माण भी हो रहा है।

मालाबार पिट वाइपर पश्चिमी घाट में एडेमिक है। पश्चिमी घाट के अलावा पहली बार लेमरू में यह प्रजाति मिला है। वनमंडलाधिकारी गुरुनाथन एन ने बताया कि इसके मिलने से जिले के जंगल की समृद्धता झलकती है। इसे विशिष्ट शोध के लिए उच्च संस्थानों को भेजने के साथ ही इनके संरक्षण के लिए कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मालाबार पिट वाइपर पश्चिमी घाटों में एडेमिक हैं और इसके दो मार्फ हरे व भूरे पाए जाते हैं। यहां पर हरे मार्फ की प्रजाति मिली है, जो जूवेनाइल अवस्था में है। इस प्रजाति के सांपों के और पाए जाने की संभावना क्षेत्र में है। छत्तीसगढ़ विज्ञान सभा से दिनेश कुमार, वेदव्रत उपाध्याय, विभागाध्यक्ष जंतु विज्ञान कमला नेहरू कॉलेज प्रो.निधि सिंह व रेपटाइल केयर एवं रेस्क्यूवर सोसाइटी के अध्यक्ष अविनाश यादव, प्रकाश तेंदुलकर रिसर्च टीम में शामिल रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan