कोरबा। विकासखण्ड कटघोरा ग्राम सुतर्रा की रहने वाली कुमारी श्वेता पोर्ते ने कड़ी मेहनत कर अपने गरीब मांँ-बाप के सपने को ऊंचा कर दिखाया है। आर्थिक रूप से कमजोर होने के बाद भी श्वेता अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटी। हर रोज 10 घंटे की कड़ी मेहनत कर नीट परीक्षा क्वालीफाई करने में सफलता हासिल की है। श्वेता ने अखिल भारतीय मेडिकल प्रवेश परीक्षा में 305 अंक अर्जित कर नीट परीक्षा क्वालीफाई किया है। शुरू से ही होनहार रहने वाली श्वेता ने जिला प्रशासन की विशेष कोचिंग योजना अग्रगमन में रहकर पढ़ाई की है। कक्षा दसवीं के बाद अग्रगमन में रहकर मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी की।

अपने माँ-बाप की एकलौती बेटी श्वेता ने बताया कि उनका एक भाई है। श्वेता के पिता खेती-किसानी का काम करते हैं। उनकी मां स्कूल में खाना पकाने का काम करती है। श्वेता ने बताया कि माता व पिता हमेशा उन्हें अच्छा पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। खुद ज्यादा पढ़-लिख ना पाए इसलिए हम लोगों का हौसला बढ़ाते हैं। श्वेता का कहना है कि उनका परिवार शुरू से ही डाक्टर बनने के सपने को पूरा करने आगे आया। उसने गरीबी झेली है, इसलिए वह डाक्टर बनने के बाद गरीबों की सेवा करेगी। कक्षा दसवीं में 80 प्रतिशत अंको के साथ पास करने के बाद श्वेता ने डॉक्टरी की पढ़ाई के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी का मन बनाया परंतु माता-पिता की कमजोर माली हालत ने उसे चिंता में डाल दिया। इसके बावजूद भी श्वेता ने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत कर परीक्षा पास की।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस