कोरबा । कोरोना संक्रमण से बचाव और रोकथाम के लिए शिक्षा विभाग कोरबा आनलाइन वर्चुअल बैठक कर जन जागरूकता अभियान चला रही है । इस मौके पर स्कूल शिक्षा मंत्री डा प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि इस वैश्विक महामारी से अपने साथ दूसरों को कैसे बचाएं, यह चिंता का विषय है। टीकाकरण ही सही उपाय है और अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवाएं।

कोरोना संक्रमण से बचाव, रोकथाम के लिए शिक्षक समुदाय विभिन्ना ड्यूटी करते हुए भी आनलाइन के माध्यम से जागरूकता संदेश फैलाकर छात्रों व अभिभावकों को फोन कर घर- घर समझाइश दे रहे हैं। यह सराहनीय कार्य है। जनजागरूकता अभियान में शिक्षा मंत्री डा टेकाम के साथ ही महापौर राजकिशोर प्रसाद, विधायक कटघोरा पुरुषोत्तम कंवर, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला कंवर, सभापति श्यामसुंदर सोनी व जिला पंचायत सदस्य गोदावरी राठौर एवं प्रीति कंवर ने गूगल मीटिंग लिंक से जुड़कर जन जागरूकता का संदेश दिए। इसमें काफी संख्या में बालक, पालक, जनप्रतिनिधि, प्राचार्य, शिक्षक व्याख्याता, सीएसी, सीआरसी ने हिस्सा लिया। गुगल मिटिंग एवं यूट्यूब, फेसबुक लाइव से काफी लोग लाभांवित हुए। निशा चंद्रा, मंजुला श्रीवास्तव के युगल संचालन में परिचय के साथ स्वागत किया गया। संयोजक कामता जायसवाल प्रभारी प्राचार्य तुमान ने आनलाइन जागरूकता संदेश दिय। जिला शिक्षा अधिकारी सतीश पांडेय ने के प्रगति रिपोर्ट दिया। इस मौके पर महापौर राजकिशोर प्रसाद ने शासन की ओर से साधन व सुविधा उपलब्ध कराने संबंधी उपयोगी जानकारी दी। विधायक पुरुषोत्तम कंवर ने छात्रों और अभिभावकों को संदेश देते हुए कहा कि वे प्रोटोकाल के सारे नियम का पालन करें, तभी कोरोनावायरस से बच सकते हैं। शिवकला कंवर अध्यक्ष जिला पंचायत ने बाहर निकलने पर अनिवार्य मास्क लगाने, दो गज दूरी पर रहने कहा। सभापति श्यामसुंदर सोनी ने हाथ धोने एवं सैनिटाइज करने कहा। पुरुषोत्तम पटेल, विश्वनाथ कश्यप, मनोज सराफ ने भी कार्यक्रम में अपना विचार रखे। राकेश टंडन व भूपेंद्र राठौर ने इसका इसका सीधा प्रसारण यूट्यूब एवं फेसबुक में किया। इस दौरान एसएमएडीसी के अध्यक्ष पालू राम, बंटी अग्रवाल, अनूप चंद्रा ने भी मंत्री को जिले की स्थिति के बारे में अवगत कराया, साथ ही शिक्षकों के कार्यो की सराहना किए। इस वर्चुअल मीटिंग में जिले के सभी क्लस्टर प्राचार्य एलके साहू, डा फरहाना अली, सहदेव डिंडोर, संगीता साव एवं अन्य उपस्थित रहे।

विद्यार्थियों ने पूछा- फैले अंधविश्वास को कैसे करें दूर

जिले के दूरस्थ अंचलो से जुड़े विद्यार्थियों में से कुछ ने शिक्षा मंत्री से प्रश्न भी किया। इसमें कामना पटेल अरदा ने प्रश्न करते हुए पूछा कि मलेरिया और कोरोना के लक्षण एक जैसे है, तो हम कैसे जानेंगे कि हमे कोरोना टेस्ट कराना है। बैजू सोनी तुमान की जिज्ञासा थी कि इजरायल में टीकाकरण पूरा हो चुका है, तो भारत मे कब तक टीकाकरण पूरा होगा। राज राठौर उत्तरदा ने पूछा कि टीकाकरण के प्रथम डोज के बाद भी कोरोना पाजिटिव क्यों आ रहे है।

पूरे राज्य में चलाया जा सकता है यह अभियान

शैली शर्मा ने कोरोना में गांव में फैले अंधविश्वास को कैसे दूर करें व पायल यादव हरदीबाजार ने लाकड़ाउन की उपयोगिता पर प्रश्न किया। इन सभी प्रश्नों का मंत्री डा टेकाम ने अच्छे से बच्चों की जिज्ञासा शांत किए। शिक्षक समुदाय से कामता जायसवाल ने डा टेकाम के सामने विचार रखते हुए कहा कि शिक्षा विभाग कोरबा का यह जन जागरूकता अभियान जिला में संक्रमण रोकने महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, क्या ऐसे कार्यक्रम पूरे राज्य में नही चलाया जा सकता। इस पर मंत्री डा टेकाम ने सहमति जताई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags