कोरबा (नईदुनिया न्यूज)। जिला कांग्रेस कमेटी कोरबा द्वारा जिला कांग्रेस कार्यालय में नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती कार्यक्रम मनाया गया। कार्यक्रम में राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल व जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के तैलचित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई।

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने देश की स्वाधीनता के संग्राम में अपने जीवन को समग्र न्यौछावर कर दिया। उन्होंने कहा कि सुभाष बाबू के पिता भी राष्ट्रभक्त थे उन्होने काफी आशाओं के साथ सुभाष बाबू को आईसीएस परीक्षा के लिए भेजा सन् 1920 में आइसीएस परीक्षा में चौथे स्थान पर आकर सुभाष बाबू ने सभी को अचंभित कर दिया था। लेकिन देशभक्ति से प्रेरित होकर सुभाष बाबू ने आइसीएस की नौकरी छोड़ दी और उन्हे कांग्रेस स्वयंसेवक दल के कप्तान बनाए गए। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस को याद करते हुए कहा कि आजाद हिंद फौज की स्थापना कर नेताजी ने भारतीय रीति से सांप्रदायिक एकता का जो आदर्श प्रस्तुत किया वह सर्वथा स्मरणीय एवं अनुकरणीय है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष सपना चौहान ने नेताजी के गुणों पर प्रकाश डाला। जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुरेंद्र प्रताप जायसवाल ने अपने उद्बोधन में नेताजी का नारा तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा को याद करते हुए कहा कि नेताजी के इस नारा से देश का बच्चा-बच्चा सहित प्रत्येक नागरिकों के हृदयों में स्फूर्ति, आशा और नये प्राणों का संचार होने लगा था और प्रत्येक नागरिक आजाद भारत की परिकल्पना करने लगे थे। सभापति श्यामसुंदर सोनी ने बताया कि सन 1992 में महान देशभक्त नेताजी सुभाषचंद्र बोस को भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित करने की घोषणा की गई। भारत माता के इस महान सपूत का सम्मान करना सर्वथा उचित है। इस दौरान कार्यकारी अध्यक्ष सत्येंद्र वासन, पार्षद दिनेश सोनी, पूर्व पार्षद महेश अग्रवाल, एल्डरमेन बच्चू मखवानी, एस मूर्ति, जिला कांग्रेस सहकारिता प्रकोष्ठ के अध्यक्ष बंटी शर्मा, उपाध्यक्ष अवधेश सिंह एवं प्रवक्ता सुरेश कुमार अग्रवाल ने भी नेताजी के जीवनी पर प्रकाश डाला।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local