कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

हिंसक दंतैल हाथी ने अजगरबहार के नेवारटिकरा गांव में रहने वाले चार आदिवासियों के कच्चे मकान क्षतिग्रस्त कर दिया। इस क्षेत्र में भ्रमण कर रहे इस हिंसक हाथी की वजह से ग्रामीणों में दहशत है। पहले ही वह 10 लोगों को मौत के घाट उतार चुका है। वन विभाग लंबे समय से ट्रैंकुलाइज करने की कोशिश कर रहा, पर अब तक सफलता नहीं मिल सकी है।

पिछले पांच दिन से दंतैल हाथी कोरबा वनमंडल क्षेत्र में भ्रमण कर उत्पात मचा रहा है। मंगलवार को पहली बार चांपा चोरभट्ठी के जंगल में उसे देखा गया, इसके बाद से वन अमले की नींद उड़ी हुई है। कई बार बड़ी घटनाओं को हाथी अंजाम दे चुका है। बुधवार की रात कोरकोमा के पास एक स्कूल की बाउंड्रीवाल तोड़ दिया था। गुरुवार की रात कोरकोमा क्षेत्र में ही एक छोटे से मंदिर को क्षतिग्रस्त करने के साथ एक कच्ची दीवार को ढहा दिया था। अब हाथी ने शुक्रवार की रात नेवारटिकरा गांव में स्थित चार मकान को क्षति पहुंचाया है। बताया जा रहा है कि घर में महिलाएं व बच्चे भी सो रहे थे। दीवार तोड़कर अंदर हाथी के घुस जाने से अफरा-तफरी मच गई। आदिवासी परिवार किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाए। इस तरह बड़ी घटना होने से बच गई। यहां किसी तरह की जनहानि नहीं हुई, पर घर में घुसकर हाथी धान चट कर गया। वन विभाग के कर्मी भी घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे।