कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नवमीं पर देवी मंदिरों में जहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी, नवरात्र के अंतिम दिन मां सर्वमंगला के दरबार में एक नाग सर्प भी देखा गया। यह सर्प भैरव बाबा मंदिर के पास दिखा। देवी दर्शन के लिए पहुंचे लोग जहां एक पल के लिए सकते में आ गए, आस्था के महापर्व में नाग देवता के दर्शन पाकर उन्हें नमन-वंदन कर शुभफल देने की प्रार्थना भी की गई।

इस समय देशभर में नवरात्र की धूम है। मां दुर्गे के नौ रूपों की नौ दिन पूजा की जाती है। महापर्व के अंतिम दिन भी मां सर्वमंगला मंदिर में सुबह से ही दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस बीच भैरव बाबा मंदिर के सामने में एक विशाल नाग घर में घुस आया। यह खबर मंदिर परिसर और आस-पास के क्षेत्र में आग की तरह फैली और डरे सहमे लोग दूर से ही उसको देखने लगे। इसके बाद मंदिर परिसर के पुजारी शिव कुमार ने इसकी जानकारी स्नेक रेस्क्यू टीम प्रमुख जितेंद्र सारथी को दी। उस वक्त जितेंद्र पंडित रवि शंकर शुक्ल नगर में रेस्क्यू कर घर की ओर जा रहे थे। सूचना मिलने पर वापस सर्वमंगला मंदिर पहुंचे। मौके पर पहुंचने पर उन्होंने देखा कि मंदिर परिसर में काफी भीड़ लग गई थी। सबसे पहले भीड़ को ख़ाली कराया गया, ताकि सभी को सुरक्षित किया जा सके। इसके बाद घर के अंदर प्रवेश कर देखा कि वह कोबरा प्रजाति का गेहुंवा सर्प था, जो बहुत ही बड़ा था। इसके बाद उन्होंने सर्प को सुरक्षित रेस्क्यू कर बाहर निकाला। इसके बाद किसी तरह एक बड़े जार में रखा गया और तब जाकर सभी ने राहत की सांस ली। वहां उपस्थित लोगों ने जितेंद्र सारथी के साहस को देख सभी ताली बजाकर आभार ज्ञापित किया। बाद में सर्प को जंगल में आबादी से दूर सुरक्षित विचरण के लिए छोड़ दिया गया।

कुछ माह पहले हुई थी बच्चे की मौत

सर्पमित्र जितेंद्र सारथी ने बताया मंदिर में बड़ी संख्या में लोग मां सर्वमंगला के दर्शन करने पहुंचे थे। इतने बडे? नाग को देख सब घबरा गए पर लोगों ने उसे आस्था की नजरों से देखा। कुछ माह पहले सर्वमंगला मंदिर परिसर में एक बच्चे की मौत हो गई थी, जिसके कारण से वहां के लोग बहुत डरे हुए थे। सर्प को सुरक्षित रेस्क्यू कर लेने पर सभी ने राहत की सांस ली।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local