कोरबा । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को विश्व पर्यावरण दिवस के दूसरे दिन मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना का औपचारिक शुभारंभ किया। रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस योजना की शुरूआत करते हुए बघेल ने कहा कि योजना से निश्चित रूप से गांवों और जंगलों की तस्वीर बदलेगी। किसानों को आय का एक नया जरिया मिलेगा। उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। हमारे गांवों में फिर से हरियाली होगी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि व्यापक दृष्टिकोण और व्यापक तैयारियों के साथ आज से छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की जा रही है। इस बार का अभियान बीते सालों के अभियानों से हटकर होगा। अधिक जनभागीदारी होने के कारण सफलता की गारंटी भी अधिक होगी। उन्होंने कहा कि इस साल वन विभाग ने 99 लाख से अधिक पौधे रोपने की तैयारी की है। साथ ही दो करोड़ 27 लाख पौधों का वितरण भी किया जाएगा। विभाग की ओर से किए जा रहे पौधारोपण के सटीक मूल्यांकन के लिए वीडियोग्राफी कराई जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के साथ भी जोड़ा गया है। जिन किसानों ने खरीफ वर्ष 2020 में धान की फसल ली है, यदि वे धान फसल के बदले अपने खेतों में वृक्षारोपण करते हैं,तो उन्हें आगामी 3 वर्षों तक प्रतिवर्ष 10 हजार रूपये प्रति एकड़ की दर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। अपने खेतों में लगाए गए वृक्षों की कटाई के लिए किसानों को भविष्य में किसी भी विभाग से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होगी। इसी तरह ग्राम पंचायतों के पास उपलब्ध राशि से यदि वाणिज्यिक वृक्षारोपण किया जाता है, तो एक वर्ष बाद सफल वृक्षारोपण की दशा में संबंधित ग्राम पंचायतों को 10 हजार रूपये प्रति एकड़ की दर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इससे पंचायतों की आय में वृद्धि होगी। इस दौरान उन्होंने दुर्ग जिले के ग्राम फुंडा में जैव विविधता पार्क की स्थापना के लिए भूमिपूजन भी किया और बस्तर, करपावण्ड, बिलासपुर, बलरामपुर, कांकेर, महासमुंद, कवर्धा तथा दुर्ग वनमंडलों में सघन वृक्षारोपण के लिए तैयार किसानों और संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सदस्यों से संवाद भी किया। कोरबा से इस कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बिलाईगढ़ के विधायक एवं संसदीय सचिव चंद्र देव प्रसाद राय, विधायक पाली तानाखार मोहितराम केरकेट्टा, कलेक्टर किरण कौशल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार, अपर कलेक्टर प्रिंयका महोबिया, कोरबा वनमंडल की डीएफओ प्रियंका पांडेय, कटघोरा वनमंडल की डीएफओ श?मा फारूखी सहित प्रशासन और वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी तथा जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

कोरोनाकाल ने दिया सबक, हम सब बचाएं पर्यावरण

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि मनुष्य ने पर्यावरण को कितना नुकसान पहुंचाया है, कोरोना-काल में लाकडाउन के समय हम सबने उसका प्रत्यक्ष प्रभाव देख भी लिया। लाकडाउन के दौरान जब थोड़े समय के लिए मनुष्य ने अपनी गतिविधियां बंद कर दी थीं, तो पूरी प्रकृति जी उठी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बात केवल कल्पना में थी कि एक रोज मनुष्य आक्सीजन के लिए कतार लगाकर खड़ा होगा। इस कोरोनाकाल में हम लोगों ने यह दुखद दृश्य भी देख लिया। उन्होंने चेताया कि आक्सीजन की किल्लत का जो दृश्य उपस्थित हुआ था, वह हालांकि एक वायरस के कारण था, लेकिन यदि हम अपने पर्यावरण के प्रति लापरवाह बने रहे तो ऐसा ही दृश्य प्रदूषण के कारण भी सामने आ सकता है।

1300 एकड़ से अधिक रकबे में लगेंगे 3.37 लाख पौधे

जिले में मुख्ममंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के तहत इस वर्ष एक हजार 334 एकड़ से अधिक रकबे में तीन लाख 37 हजार 867 पौधों का रोपण किया जाएगा। इसमें 540.22 एकड़ में 54 हजार 589 फलदार पौधे, 402.64 एकड़ रकबे में एक लाख 96 हजार 517 इमारती लकड़ी देने वाले पौधे और 196.17 एकड़ भूमि पर 86 हजार 762 औषधीय पौधे रोपे जाएंगे। जिले की 289 ग्राम पंचायतों के 298 गांवों में यह वृक्षारोपण किया जाएगा। फलदार पौधों में आम, काजू जैसे पौधे रोपे जाएंगे। इमारती लकड़ी देने वाले पौधों में साल, सागौन, सीसम, नीलगिरी, खम्हार, बांस, बीजरा, धवई, नीम के पौधे लगेंगे। वहीं औषधीय पौधों के रूप में आंवला, हर्रा, बहेड़ा, करंज के पौधे रोपे जाएंगे। कृषि विभाग द्वारा जिले के 67 गांवों में 168 एकड़ रकबे में 14 हजार 280 पौधों का रोपण कराया जाएगा। इसके लिए अभी तक कृषि विभाग द्वारा 162 किसानों का पंजीयन किया जा चुका है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags