कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सीबीएसई दसवीं बोर्ड में स्टेट टापर रहे बाल्को डीपीएस के मेधावी छात्र आर्यम सिंह को कार्टून देखना सबसे ज्यादा पसंद है। डोरेमान व शिनचैन उनके पसंदीदा पात्र हैं। इतना ही नहीं, वे बैडमिंटन, क्रिकेट और फुटबाल समेत अन्य खेलों में काफी रूचि रखते हैं और खूब खेलते हैं। उन्होंने बताया कि कार्टून से उनका मन स्वस्थ रहता है, तनाव दूर रखता है और खेल-कूद से तन-मन दोनों सेहतमंद रहते हैं। इन सब के बाद जब पढ़ाई का वक्त होता है, तो उसमें किसी प्रकार का समझौता नहीं करते। मन-शरीर और मस्तिष्क स्वस्थ रहें तो पढ़ाई में मजा आता है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) की दसवीं की परीक्षा में डीपीएस स्कूल बाल्को के होनहार विद्यार्थी आर्यम सिंह ने 99.4 प्रतिशत अंक अर्जित कर कोरबा ही नहीं, पूरे छत्तीसगढ़ में टाप किया है। आर्यम ने दसवीं बोर्ड में उम्दा प्रदर्शन के पीछे की अपनी तैयारियों की विधि के बारे में नईदुनिया से अपने मन की बात साझा की। उन्होंने बताया कि तनाव या चिंता लेकर हम केवल रट सकते हैं, समझ नहीं सकते। इसलिए उन्होंने कभी किताबों के बीच घंटों बैठकर उलझे रहने का रास्ता नहीं लिया। स्कूल की कक्षाओं के बाद वे अपनी तैयारी करते और घर में प्रतिदिन तीन से चार घंटे की पढ़ाई गंभीरता से करते हैं। आर्यम ने अपने जूनियर्स से भी यही आग्रह किया है कि शिक्षा हमें अपने सपनों को पाने का रास्ता बनाती है।

चार साल पहले छोड़ गए पिता, मां कर रहीं प्रेरित

आर्यम के पिता स्वर्गीय राजेश्वर सिंह यातायात पुलिस में आरक्षक थे। चार साल पहले साइलेंट अटैक पड़ा और वे उन्हें छोड़ गए। इसके बाद मां, दादाजी व चाचाजी समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने बच्चों की जिम्मेदारी संभाली। आर्यम की मां सोनीति प्रि प्राइमरी स्कूल कमलनी बाल्को में हिंदी-अंग्रेजी की शिक्षिका हैं। बड़ी बहन आर्या नीट की तैयारी कर रहीं हैं। मां और बड़ी बहन उसकी पढ़ाई में मदद करते हैं। उनकी इस सफलता में मां सोनीति और शिक्षकों का प्रोत्साहन महत्वपूर्ण रहा।

खुद को प्रसन्ना रखते हुए पढ़ाई करें

डीपीएस बाल्को के प्राचार्य कैलाश पवार ने कहा कि कई विद्यार्थियों को परीक्षा के तनाव से जूझते देखा जाता है। अच्छे अंक के लिए दौड़ते देखा जाता है। अच्छे अंक के लिए निष्ठा से प्रयास करना अच्छी बात है, पर अपनी सेहत दांव पर लगाना उचित नहीं। उन्होंने कहा कि जिस भी विषय में रूचि हो, उसे समझकर पढ़ें। अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए, मन-मस्तिष्क व शरीर को स्वस्थ रखते हुए खुद को काबिल बनाने के लिए पढ़ें, न कि अच्छे से अच्छा अंक लाने की होड़ में। इस तरह खुद को संयमित, संतुलित और प्रसन्नाचित रखते हुए पढ़ाई करें, तो अच्छे अंक आना निश्चित है।

गणित-सोशल में 100 अंक, सीएस में आइआइटी

आर्यम ने बताया कि जैसा शिक्षकों ने मार्गदर्शन दिया, वैसे ही तैयारी करते गए। वाट्सएप पर एक्टिव हैं, क्योंकि अध्ययन-अध्यापन में उसकी जरूरत है। 11वीं में पीसीएम लिया है और आइआइटी से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग उनका लक्ष्‌य है। दसवीं के पांच विषयों में आर्यम ने विशेष योग्यता के साथ अंक अर्जित किए हैं। गणित व सामाजिक विज्ञान में उन्हें 100 अंक मिले तो हिंदी-अंग्रेजी और विज्ञान में आर्यम ने 99 अंक प्राप्त किए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local