कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोविड-19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते पकड़े गए 65 लोगों पर पुलिस-प्रशासन ने कार्रवाई की है। शनिवार को वैसे भी पूर्ण लॉकडाउन होता है। उस पर पकड़े गए राहगीर बिना मास्क के घूम रहे थे। इन पर कार्रवाई करते हुए कुल छह हजार 500 रुपये का जुर्माना वसूल किया गया।

संपूर्ण विश्व के साथ भारत देश भी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे से जूझ रहा है। कोविड-19 एक वैश्विक महामारी घोषित होने से केंद्र एवं राज्य शासन ने निर्देश जारी कर हर व्यक्ति को लॉकडाउन के नियमों का पालन करने, घर से निकलते वक्त वक्त मास्क का उपयोग करने, साथ ही फिजिकल डिस्टेंस का भी पालन करने कहा है। इसके बाद भी कुछ लोगों के लिए शायद ये अब भी मजाक बना हुआ है। यही वजह है लोग अब भी बिना मास्क लगाए बेपरवाह होकर घूमने निकल जाते हैं। इस बात की निगरानी कर रही पुलिस व प्रशासन ने शनिवार को पुलिस-प्रशासन ने सघन जांच अभियान चलाया। एसपी अभिषेक मीणा व एवं वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर थाना कोतवाली एवं नगर निगम कोरबा के संयुक्त टीम ने जांच किया। शहरी क्षेत्र में कोविड-19 कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने एवं मास्क नहीं पहनने वाले 65 लोगों को पकड़ा गया। इनके विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 6,500 रुपये का जुर्माना भी वसूला गया है।

मास्क का निःशुल्क वितरण

पुलिस ने आम लोगों से घर से निकलते वक्त चेहरे पर मास्क का उपयोग एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने कहा है, ताकि होने वाले संक्रमण से बचा जा सके। प्रशासन व पुलिस की ओर से संकट के इस मुश्किल समय में सख्ती के साथ नरमी का रुख भी दिखा रही। इस तरह न केवल मास्क की अनिवार्यता समझने लगातार कार्रवाई की जा रही, बल्कि जरूरतमंद लोगों निःशुल्क मास्क वितरण भी किया जा रहा। पुलिस व प्रशासन की यही कोशिश है कि किसी भी परिस्थिति में लोग कोविड-19 के प्रोटोकॉल का अक्षरशः पालन कर खुद को व दूसरों को इस महामारी से दूर रखने सहयोग प्रदान करें। इस तरह नियम दरकिनार करने वालों पर कार्रवाई जारी रहेगी।

उल्लंघन खुद के पांव में कुल्हाड़ी

वर्तमान में वैश्विक महामारी का रूप ले चुकी कोरोना के वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने व बीमारी की श्रृंखला को तोड़ने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने कोरबा में लॉकडाउन के अनेक चरण लागू किए। यह इसलिए ताकि फिजिकल डिस्टेंस कायम कर वायरस को एक से दूसरे में फैलने से रोका जा सके। इस तरह स्पष्ट है कि फिजिकल डिस्टेंस की अवहेलना व बिना मास्क के घूमकर लोग न सिर्फ कोविड-19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहे हैं, बल्कि इस तरह वायरस के खतरे को वे खुद अपनी ओर बढ़ने का रास्ता बना रहे हैं। इस तरह से प्रोटोकॉल के नियमों को तोड़कर वे खुद ही अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने की गलती क्यों कर रहे, ये समझ से परे है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना