कोरबा । विद्युत कंपनी के पावर प्लांट में छह वर्षो से संविदा कर्मी के रूप में कार्यरत भू-विस्थापित व अनुकंपा नियुक्त कर्मियों को नियमितिकरण की प्रक्रिया प्रबंधन ने रोक दी। इन कर्मियों की प्रशिक्षण अवधि प्रबंधन द्वारा नियम विरूद्ध लगातार बढाई जा रही है।

शासन द्वारा नियमितिकरण का आदेश जारी किए जाने पर विद्युत कंपनी के आला अफसरों की नींद खुली और कार्रवाई के भय से अब आनन फानन में चरणबद्ध ढंग से नियमित करने की प्रक्रिया शुरू की थी।

पहली सूची तैयार कर ली गई है और बाद में आदेश जारी नहीं किया गया। इसके साथ ही नियमित प्रवृत्ति के कार्यो पर लगे आउटसोर्सिग मजदूरों की सूची पावर प्लांट प्रबंधन ने मुख्यालय में उपलब्ध नहीं कराई है। इससे कर्मियों में रोष है।