कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

भाजपा संगठन चुनाव में गुटबाजी खुलकर सामने आने लगी है। बांकीमोंगरा मंडल के बूथ स्तर पर चुनाव कराते वक्त पदाधिकारियों के नाम को लेकर दो महिला नेत्रियों के मध्य तू-तू मै-मै हो गया। बाद में समझाइश दिए जाने पर मामला शांत हुआ।

भाजपा द्वारा प्रथम चरण में बूथ स्तर पर चुनाव कराया जा रहा है। प्रत्येक मंडल स्तर पर चुनाव अधिकारी व सह अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। बांकीमोंगरा मंडल के बूथ स्तर चुनाव के लिए देवेंद्र पांडेय चुनाव अधिकारी व विकास अग्रवाल सह अधिकारी बनाए गए हैं। बताया जा रहा है कि दोनों पदाधिकारी मंडल में जाकर कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे थे, तभी पूर्व संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन भी वहां पहुंच गए। चूंकि चुनाव आपस में सहमति से कराया जाना है, इसलिए नामों की सूची को लेकर विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। एक महिला नेत्री ने अपने कार्यकर्ताओं का नाम जोड़ने के लिए रखा, इस पर दूसरी महिला नेत्री ने आपत्ति जताई। इसके बाद दोनों में विवाद होने लगा और स्थिति बिगड़ गई। बाद में समझाइश देते हुए दोनों को शांत कराया गया। वहीं कुछ कार्यकर्ताओं का कहना है कि पूर्व संसदीय सचिव बिन बुलाए पहुंच गए थे और अपनी सूची जारी कर रहे थे। इसका अन्य सदस्यों ने विरोध जताया। घटना को लेकर कार्यकर्ताओं में असंतोष व्याप्त है। अनुशासन वाली पार्टी में संगठनात्मक चुनाव के वक्त अब गुटबाजी खुलकर सामने आने लगी है। वर्चस्व हासिल करने सभी लोग अपने कार्यकर्ताओं को प्रमुखता से स्थान देने जुट गए हैं। इससे अन्य कार्यकर्ताओं में असंतोष व्याप्त हो रहा है। उधर इस मामले में पूर्व संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन का कहना है कि बांकी मंडल के पदाधिकारियों के बुलाने पर ही बैठक में शामिल हुआ। चुनाव के दौरान किसी बात को लेकर विवाद नहीं हुआ।