कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

शराब के नशे में दो भाईयों के बीच जमीन को लेकर ऐसा विवाद उपजा की लाठी से पीट-पीटकर एक भाई ने अपने साथी के साथ मिलकर अपने भाई की हत्या कर दी। दोनों ने उसे सांस उखड़ते तक बेरहमी से पीटा। बेटे के जान की भीख मां मांगती रही, लेकिन दोनों आरोपितों के सिर पर खून सवार था। घटना के बाद पुलिस ने आरोपित भाई को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसका दोस्त फरार हो गया।

पाली थाना के चैतमा चौकी स्थित पहाड़गांव में इतवार सिंह पिता तारन सिंह (36) रोजी मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था। पड़ोस में ही उसकी बड़ी मां का बेटा मोहन सिंह पिता सेवक सिंह (29) निवासरत है। दोनों भाई अक्सर एक साथ बैठकर जाम छलकाते थे। शनिवार की दोपहर इतवार सिंह और मोहन सिंह घर से कुछ ही दूरी पर स्थित एक होटल में बैठकर शराब पी रहे थे। इस दौरान मौके पर मोहन का दोस्त अशोक अगरिया पिता समार सिंह (24) भी पहुंच गया था। दोनों भाईयों के बीच घरेलू चर्चा चल रही थी। इतवार ने हाल ही में अपने जमीन का एक टुकड़ा किसी को बेच दिया था, इसी बात को लेकर मोहन ने उसे ताना कसना शुरू किया। दोनों की बहस देखते ही देखते विवाद में बदल गया। बहस बढ़ता देख इतवार वहां से उठकर जाने लगा, यह बात मोहन को नागवार गुजरी। वह इतवार के पास पहुंचा और अपने साथी अशोक के साथ मिलकर उसकी डंडे से पिटाई करने लगा। मारपीट होता देख इतवार की मां दुलवारिन बाई बीच बचाव करने पहुंची और हाथ जोड़कर बेटे को बख्श देने गिड़गिड़ाने लगी। दोनों शराब के नशे में धुत थे। बेटे को बचाने के लिए मां दुलवारिन गांव की ओर दौड़ी और ग्रामीणों को आवाज देने लगी। जब वह वापस लौटी, तब तक इतवार दम तोड़ चुका था। कोटवार अशोक दास को जानकारी मिलते ही वह मौके पर पहुंचा। उसने घटना की जानकारी डायल 112 को दी। पाली पुलिस को भी घटना की जानकारी दी गई। 112 में तैनात जवान तेजप्रकाश व मनोज घटनास्थल पहुंचे। जवानों ने तत्काल मोहन सिंह को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अशोक अगरिया घटना के बाद मौके से फरार हो गया। शव को पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त डंडे को बरामद कर लिया है। दोनों आरोपितों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर फरार आरोपित की तलाश की जा रही है।