कोरबा । बारिश समापन के डेढ़ माह बाद भी शहर के निकट ध्यानचंद चौक में बने गढ्ढों में सुधार नहीं हुई है। शहर को दर्री- कटघोरा मार्ग से जोड़ने वाली इस सड़क को दशा को सुधारने के लिए जल संसाधन की ओर से निगम प्रशासन को कई बार अवगत कराया जा चुका है। मरम्मत नहीं होने के कारण हसदेव बराज पुल से ध्यानचंद चौक तक मुख्य मार्ग में लोगों को हिचकोले खाते सफर करना पड़ रहा।

शहर के निकट रूमगड़ा के ध्यानचंद चौक में किया गया सौंदर्यीकरण मार्ग में ने गढ्ढों के कारण धूमिल हो रही। यह मार्ग निगम क्षेत्र के अंतर्गत आता है। जल संसाधन की जमीन होने के कारण सुधार नहीं की जा रही। दरअसल यह मार्ग हसदेव बराज के पुल से जुड़ी है। आवागमन लिए आम लोगों का सरोकार होने के बाद भी निगम मरम्मत करने में ध्यान नहीं दे रहा। निगम प्रशासन को जल संसाधन विभाग ने समस्या से अवगत करा दिया है। इसके बाद भी सड़क में सुधार नहीं होना राहगीरों के लिए मुसीबत बनी है।

जर्जर मार्ग में भारी वाहनों के आवागमन के कारण दिन भर धूल उड़ते रहता है। हालिया स्थिति यह है कि पुल के नीचे जल संसाधन की जमीन पर विकसित उद्यान के सभी छोटे बड़े पेड़ पौधे के पत्ते धूल से अटे पड़ेे हैं। छोटे वाहन चालकों को हमेशा दुर्घटना के साए में आवागमन करना पड़ रहा।दर्री-कटघोरा मार्ग को शहर से जोड़ने के लिए तुलसी नगर और गेरवा घाट तक चल रहा सड़क निर्माण का काम तीन साल बाद पूरा नहीं हुआ है। इस मार्ग के बनने से हसदेव पुल मार्ग के बजाए लोग गेरवा घाट मार्ग से सफर कर सकते है। निगम प्रशासन द्वारा काम में देरी करने से लोगों को सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close